Wednesday, 13 December 2017

गजल-नज्म संग्रह ‘शाम फिर क्यूं उदास है द

गजल-नज्म संग्रह ‘शाम फिर क्यूं उदास है द

धरणीधर रंगमंच मे शब्दश्री साहित्य संस्थान की ओर से डॉ.कुमार गणेश के गजल-नज्म संग्रह ‘शाम फिर क्यूं उदास है दोस्त’ का लोकार्पण संजय विनायक जोशी, डॉ.कुंजन आचार्य रामेश्वरानंदजी महाराज, मोनिका गौड़