KhbarExpresswww.khabarexpress.com

Job Seeker from Rajasthan,Jaipur,Jodhpur,Ajmer,Bikaner,Mumbai,Delhi,

Welcome Guest Sign In New user! Sign Up Now
Search Photo  
RSSTuesday, October 21, 2014



Nagar Ek - Nazaare Anek ::Souvenir
कब तलक लालचंद भावुक संयोजक, राज.प्रगतिषील जन साहित्य संस्थान बीकानेर।
More Articles

हषती, षोले बताओं, कब तलक बरसाओगे ?
बेषरम होकर इस तरह, कब तलक इतराओगे?
तंग नजदीकी की नही होती है, लम्बी जिन्दगी,
लगाई अपनी आतिष से ही, कब तलक बच पावोगे?
हैरोहरम और चर्च द्वारे, सब अमन के रास्ते है
रास्तो से आदमी को कब तलक भटकावोगे?
यह तुम्हारी बुजदी है, और गाफिल हम नही,
तुम हमारे हौसलों को, कब तलक आजमावोगे?
कुर्बानियाँ जो दे गए है कहता है उनका लहू।
ओ! यजीदों तुम बताओं, कब तलक बच पावेगे?
भाईचारा यह हमारा तवारीख को तसलीम है
बंट की तसवीर लेकर कब तक भरमावोगे?
अब हमारे सब्र का और मत लो इम्तिहान
वार गार हमने किया तो, खाक मे मिल जाओग।
 



Discuss this topic on KhabarExpress Forum 

Post Your Comments to this Article Posting Rules
Name*:
Comment*:
 


SouvenirSouvenir
 

All right reserved by Khabarexpress.com
Contact Us | Archives | Sitemap | Can't see Hindi ? | News Ticker
Special Edition: Lakshchandi Mahayagya, Camel Festival 2007, Vartmaan Sahitya, Nagar Ek - Nazaare Anek, Bikaner Udyog Craft Mela
Our Network rajb2b.com | khabarexpress.com | uniqueidea.net | PelagianDictionary.com | hindinotes.com | hubVilla.com
Developed & Designed by Pelagian Softwares