Sunday, 18 August 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS

ऐसे करें सी.ए. सी.पी.टी. की तैयारी


Dr Ajay Joshiद इन्स्टीट्यूट ऑफ चार्टड एकाउन्टेट्स ऑफ इण्डिया ने सीए पाठ्यक्रम के लिये एक नयी परीक्षा कॉमन प्रोफिसिमेन्सी टेस्ट प्रारंभ की है इस परीक्षा हेतु पंतीयन १०वीं कक्षा पास करके भी कराया जा सकता है लेकिन विद्यार्थी इस परीक्षा में १०+१२ अर्थात् सीनियर सैकण्डरी परीक्षा पास करके ही प्रविष्ट हो सकता हैं। इस वर्ष इसका पंजीयन १ सितम्बर से प्रारंभ हो रहा है। इसकी पहली परीक्षा नवम्बर २००६ में आयोजित की जायेगी। 
 

यह टैस्ट चार घंटे को होगा जिसके पूर्णाक दो सौ अंक होंगे। यह टैस्ट दो भागों में विभक्त होगा। विषय संरचना इस प्रकार है -

भाग प्रथम
खण्ड ए -
फण्डामेन्ट ऑफ एकाउन्ट्स
६० अंक


खण्ड बी -
मर्केन्टाइल लॉ
४० अंक


खण्ड सी -
जनरल इकोनोमिक्स
५० अंक


खण्ड डी -
क्वान्टेटिव एप्टीट्यूड
५० अंक

यह सम्पूर्ण टैसट बहुविकल्पी प्रश्नों का होगा। विद्यार्थी को एक प्रश्न के विभिन्न विकल्पों में से सर्वाधिक उपयुक्त विकल्प का चुनाव करना होगा। इस टैस्ट में गलत उत्तर के लिये कुछ ऋणात्मक अंकन की व्यवस्था होगी। इस टैस्ट का स्तर आधारभूत जानकारी वाला होगा। इसमें उत्तीर्ण होने के लिए ५० प्रतिशत अंक लाने अनिवार्य होंगे।
संस्थान इस टैस्ट हेतु पूरी अध्ययन सामग्री उपलब्ध करायेगा। इसमें चार पुस्तकें तथा एक सीडी होगी जिसमें सम्पूर्ण पाठ्यक्रम से जुडी सामग्री होगी। इस सीडी के माध्यम से विद्यार्थी स्वयं भी अपने अध्ययन व ज्ञान की जांच कर सकेंगे। वे अपी कमजोरियों तथा विशेषताओं का पता लगाकर भावी तैयारी कर सकेंगे।
सीपीटी की तैयारी करते समय कुछ महत्त्वपूर्ण बातों का ध्यान रखा जाना जरूरी है चूंकि यह बहुविकल्पी प्रश्नों वाला टैस्ट हैं। इसलिये इसमें शामिल सभी चारो पेपर्स की गहन तैयारी की आवश्यकता हैं, इस टैस्ट में प्रविष्ट होने वाले विद्यार्थियों को संस्थान द्वारा उपलब्ध करायी गयी अध्ययन सामग्री को ध्यान से पढना चाहिए। चारो विषय में जो महत्त्वपूर्ण तथ्यात्मक बाते है उन्हें अण्डरलाईन कर लें या उन्हें अलग से नोट कर लें। समयत्र पर इन्हें दोहराते रहें। संस्थान द्वारा भेजी गयी सीडी के माध्यम से बहुविकल्पी प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयास करें। स्वयं भी संभावित बहु विकल्पी प्रश्न बनाये तथा उनका उत्तर देने का प्रयास करें। किसी अनुभवी शिक्षक या साथी से भी इस परीक्षा की तैयारी संबंधी मार्गदर्शन प्राप्त किया जा सकता हैं।
चूंकि इस टेस्ट में ऋणात्मक अंकन की व्यवस्था हैं। इसलिये जहां तक संभव हो उन्हीं प्रश्नों को हल करे जो सही हो। गलत उत्तर देने की बजाय प्रश्न को हल नहीं करना ऋणात्मक अंकन में अधिक उपयोगी रहता हैं। इस टेस्ट में प्रत्येक भाग के लिये समय निर्धारित है उस समय को ध्यान में रखते हुए प्रश्नों को हल करने का प्रयास कर शीघ्रता से प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयास करें ताकि ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं हो कि आपको प्रश्नों के उत्तर आते हुए भी समय की कमी के कारण उन्हें हल न कर सकें।
पूरा पेपर पढने के बजाय क्रमानुसार प्रश्न पढते जाय तथा उनके उत्तर के सही विकल्प पर टिक करते जाय। यदि कोई प्रश्न का हल नहीं सूझ रहा है तो उसमे उलझे रहने की बजाय अगले प्रश्न को हल करना प्रारंभ कर दे उस प्रश्न को बाद में जब समय बचें तब हल करने का प्रयास कर। यदि उत्तर के प्रति आश्वस्त नही हो तो उसे छोडना ही बेहतर हैं। प्रश्नों को हल करते समय हडबडाहट नहीं करनी चाहिए। प्रश्न को अच्छी तरह से समझने का प्रयास करना चाहिए। बहुविकल्पी प्रश्नों के सारे विकल्पों के उत्तर सही प्रतीत हो सकते हैं। लेकिन उत्तर एक ही होगा, ऐसा सर्वाधिक उपयुक्त विकल्प वाला उत्तर होगा इसलिये सबसे उपयुक्त विकल्प पर ही टिक करें। निर्धारित समयावधि में सभी भागों के प्रश्नों का हल करने का प्रयास करे यदि पूरा प्रश्न पत्रा हल कर लिया है तथा कुछ समय बचा ले तो जिन प्रश्नों को छोडा है उन्हें पुनः पढकर उनका उत्तर खोजने का प्रयास करें लेकिन टप्पे लगाकर उत्तर कभी भी नहीं दें।
इस परीक्षा में न्यूनतम उत्तीर्णांक ५० प्रतिशत निर्धारित हैं। यदि आप इन बातों को ध्यान में रखकर परीक्षा देंगे तो पास होने में कठिनाई नहीं होगी। इस टेस्ट में पास होने के बाद आप सीए की आगे की परीक्षाओं तथा प्रशिक्षण हेतु पात्रता प्राप्त कर लेंगे।
सीपीटी प्रति तीन माह में एक बार अर्थात्् वर्ष में चार बार फरवरी, मई, अगस्त तथा नवम्बर माह में आयोजित होगा। इसका १ सितम्बर २००६ से पंजीयन प्रारंभ होगा। इस परीक्षा हेतु १५०० रू. फीस का भुगतान करके पंजीयन कराया जा सकता है तथा पंजीयन के ६० दिन बाद परीक्षा में प्रविष्ट हो सकते हैं। पंजीयन संबंधी जानकारी तथा आवेदन पत्रा आदि द इन्स्टीट्यूट ऑफ चार्टड एकाउन्टेट्स ऑफ इण्डिया, आई.सी.ए.आई. भवन, इन्द्रप्रस्थ मार्ग, नई दिल्ली या इसके विभिन्न क्षेत्राीय अध्ययन केन्द्रों तथा शाखाओ ंसे प्राप्त की जा सकती हैं।
संस्थान की सी.ए. पाठ्यक्रम की यह योजना सैकण्डरी उत्तीर्ण करते ही छात्रा को अपना पेशेवर पाठ्यक्रम का चुनाव करने तथा इस हेतु मानसिक रूप से तैयार होने में सहायक होगी। १०वीं परीक्षा उत्तीर्ण विद्यार्थी अपनी सीनियर सैकण्डरी परीक्षा देने तक इस टैस्ट की बहुत अच्छे


(डॉ. अजय जोशी),
निदेशक, रोजगार स्वरोजगार मार्गदर्शन संस्थान, बिस्सों का चौक, बीकानेर