Wednesday, 21 August 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS

जयपुर मे सीरियल ब्लास्टः त्वरित टिप्पणी


Shyam Narayan Rangaआतंकवाद का एक घिनौना चेहरा आज जयपुर में देखने को मिला है। लगातार सात बम ब्लास्ट ने शांत राजस्थान को हिलाकर रख दिया है। राजस्थान पूरे भारत में शांत प्रदेश के तौर पर जाना जाता है और इस बार इस प्रदेश को अशांत करने की कोशिश आतंकारियों द्वारा की जा रही है। एक समय था जब पूरे पंजाब व कश्मीर में इन आपराधिक तत्वों ने अपनी दहशतगर्दी को अंजाम दिया था लेकिन हिंदुस्तान की दिलेर व जाबांज जनता ने उस दौर का डट कर मुकाबला किया और आज पंजाब व कश्मीर में आतंकी अपना हौसला पस्त कर चुके हैं। अब इन आतंकियों को राजस्थान नजर आ रहा है। राजस्थान की अलमस्त और फक्कड मिजाज की जनता के माध्यम से ये लोग देश में अशांति व खौफ पैदा करना चाहते हैं लेकिन शायद ये लोग इस बात को भूल चुके हैं कि कश्मीर व पंजाब के लोगों में जितना हौसला है, राजस्थान के लोग भी इस हौसले में पीछे नहीं हटने वाले, वैसे भी मारवाडी कौम अपनी साहसिकता के लिए पूरे विश्व में जानी जाती है।
पहले अजमेर के दरगाह शरीफ में और बाद में जयपुर में दहशतगर्दों ने जो हिमाकत की है उसकी जितनी भर्त्सना की जाए उतनी कम है। राजस्थान की जनता इन आतंकारियों को ये साफ तौर पर बता देना चाहती है कि इस मुल्क को तोडने की जो कोशिशे की जा रही है उसमें कभी भी कोई संगठन या व्यक्ति कामयाब नहीं हो सकता है। कश्मीर से कन्याकुमारी तक का सारा भारत एक है और हमेशा एक रहेगा कोई भी ताकत इस देश में किसी प्रकार का जहर फैलाकर कामयाब नहीं हो सकती है।
वैसे जब अजमेर के दरगाह शरीफ में ब्लास्ट हुआ था जब भारत सरकार के गृह राज्य मंत्री जयराम रमेश ने राजस्थान सरकार को चेता दिया था कि सुरक्षा ऐजेंसियों की राय है कि राजस्थान में आने वाले समय में आतंकी गतिविधियाँ तेज होने वाली है और उसी चेतावनी के मद्देनजर पूरे राजस्थान में उस समय हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था और जन्माष्टमी के अवसर पर भारी सुरक्षा व्यवस्था पूरे प्रदेश में की गई थी लेकिन बाद में धीरे धीरे इसमें ढील बरती गई और आज जयपुर में वो हो गया जिसकी किसी ने कल्पना नहीं की थी। केंद्र सरकार की चेतावनी के बावजूद राज्य सरकार की ढलाई ने एक बार फिर राज्य की सुरक्षा ऐजेंसियों व सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया है।
वैसे एक दूसरे पर दोषारोपण का काम हम बाद में भी कर सकते हैं अभी वक्त है एक दूसरे का हाथ पकड कर साथ देने का और अपने लोगों के ऑंसू पोंछने का । जो राजस्थानी अपने व्यवहार व साहस के कारण पूरे विश्व में पूजा जाता है आज उसकी परीक्षा है और उसके दिल में पूरा विश्वास है संकट के इस दौर में उसका हौसला बुलंद रहेगा।
इस खबर वेबसाइट के माध्यम से हमारी पूरे प्रदेश के नागरिको व भाईयों व बहनों से अपील है कि अपने आस पास किसी भी लावरिस वस्तु के हाथ न लगाए और संदिग्ध व्यक्ति की सूचना तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन पर दे। किसी भी प्रकार की दुर्घटना से घबराऍं नहीं और प्रत्येक सकट का डट कर मुकाबला करे। हमारी एक अपील यह भी है कि संकट के इस दौर में अपने प्रदेश के नागरिकों की दिलखोलकर सेवा करें और जरूरतमंदों कही सहायता करें और अपने नजदीकी अस्पताल में जाकर रक्तदान करें।

श्याम नारायण रंगा

Serial blasts rock Jaipur, over 50 feared killed