Tuesday, 17 October 2017

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित

चिकित्सकों को बिना अनुमति मुख्यालय न छोड़ने की हिदायत

बीकानेर, जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक मंगलवार को जिला कलक्टर पूनम की अध्यक्षता में स्वास्थ्य भवन में आयोजित हुई। इस अवसर पर पूनम ने जिले में हुई होम डिलीवरी पर नाराजगी जताते हुए कहा कि किसी भी सूरत में जिले में होम डिलीवरी बर्दाष्त नही की जायेगी। होम डिलीवरी होने की सूचना मिलने पर संबंधित चिकित्सा संस्थान के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओ पर अनुषासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। जिला कलक्टर ने सभी चिकित्सा अधिकारी प्रभारियो को सख्त निर्देष देेते हुए कहा कि ब्लाॅक चिकित्सा अधिकारी और चिकित्सक अपने मुख्यालय पर रहना सुनिष्चित करें। बिना अनुमति के अपने मुख्यालय में नही रहने पर सख्त अनुषासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने चिकित्सा स्टाफ को अपने-अपने क्षेत्रो की सभी गर्भवती माताओ का शत प्रतिशत संस्थागत प्रसव करवाने के निर्देश दिए। 
ओजस साॅफटवेयर की संस्थावार की समीक्षा
     जिला कलक्टर पूनम ने जिले की आॅनलाइन रिर्पोटिंग और जननी सुरक्षा योजना के अन्र्तगत दिये जाने वाले आॅनलाइन भुगतान के ओजस साॅफटवेयर की चर्चा करते हुए उसमें एंट्री कम दर्ज होने को गंभीरता से लेते हुए नाराजगी जताई और कहा कि पीबीएम अस्पताल, जिला अस्पताल और सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तीन दिवस में अपनी सभी बैकलाॅग एंट्री पूर्ण करना सुनिष्चित करें और इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही स्वीकार नही की जायेंगी और कोताही बरतने वाले संबंधित कार्मिक पर अनुषासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। जिला कलक्टर पूनम ने पीबीएम अस्पताल से ओजस साॅफटवेयर मे एंªटी दर्ज नही करवाने को बेहद गंभीरता से लेते हुए कहा कि अधीक्षक संबंधित अधिकारी और कार्मिक को निर्देष देकर पांच दिन में समस्त बैकलाॅक एंट्री को पूर्ण करवाये। जिला नोडल अधिकारी मनीष गोस्वामी ने जिले की आॅनलाइन रिपोर्टिंग में आ रहे गैप के बारे में सभी चिकित्सा अधिकारियो को बताया और कहा कि रिपोर्टिग सही नही होने से जिले की प्रगति प्रभावित हो रही है, इसे गंभीरता से लेकर सभी आॅनलाइन रिर्पोटिंग करवाना सुनिष्चित करे। पीसीटीएस में प्रत्येक गर्भवती महिलाओ के खाता संख्या भामाषाह कार्ड, आधार नंबर की एंट्री सात दिवस में पूर्ण करवाना सुनिष्चित करे।  
 झोला छाप चिकित्सकों के खिलाफ हो कार्रवाई 
पूनम ने ग्रामीण क्षेत्रो में बिना डिग्री वाले नीम-हकीम और झोलाछाप डाक्टर्स के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए औचक कार्रवाई करते हुए आवश्यकता के अनुसार पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करवाने को कहा। आॅन लाइन साॅफ्टवेयर पीसीटीएस में मिसिंग डिलीवरी के संबंध में उन्होंने कहा कि सभी ब्लाॅक चिकित्सा अधिकारी इन मिसिंग डिलीवरी का पता लगाएंगे और इसकी पालना सुनिश्चित करेंगे। 
 
एंटी लार्वा मलेरिया रोधी गतिविधिया जारी रखे
जिला कलक्टर ने कहा कि सभी चिकित्सा अधिकारी अपने क्षेत्रा में सतर्क रहंे और एंटी लार्वा एक्टिविटी को निरंतर जारी रखते हुए इसकी प्रभावी माॅनिटरिंग करें। उन्होंने कहा कि रूके हुए पानी, गढ्ढांे और उनके स्त्रोतों का निस्तारण करवाएं जिससे वहां लार्वा ना पनपें। 

टीबी रिपोर्टिग नही होने पर जताई नाराजगी
जिला कलक्टर पूनम ने टीबी रोगियो की रिपोर्ट लैब और चिकित्सा संस्थानो से सही रूप में नही आने पर नाराजगी जताई और निर्देष देते हुए कहा कि टीबी एक गंभीर बीमारी है, जिले के सभी चिकित्सा संस्थान और लैब इसकी रिपोर्ट सही रूप में जिला अधिकारियो को भेजना सुनिष्चित करे। जिला क्षय रोग कार्यालय से डा0 ओ पी सुथार ने जिले में चल रहे टीबी नियंत्रण कार्यक्रम की जानकारी और प्रगति के बारे में बताया। 
बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा0 देवेन्द्र चैध्री, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डाॅ सी.एस. थानवी, जिला औषधि भंडार प्रभारी डाॅ नंवल किशोर गुप्ता, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (परिवार कल्याण) डाॅ राधेश्याम वर्मा, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (स्वास्थ्य) डाॅ इंदिरा प्रभाकर, जिला क्षय रोग कार्यालय से डाॅ ओ पी सुथार, जिला आषा समन्यवक रेणु बिस्सा, जिला लेखा प्रबंधक राजेष सिंगोदिया सहित सभी बीसीएमओ, सीएचसी एवं पीएचसी प्रभारी मौजूद थे। 
 

Bikaner District Health committee Meeting   PMO   CH&HO   Nodel Officer