Wednesday, 24 April 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2268 view   Add Comment

लोकसभा चुनाव के दौरान रखे सर्तकता: सुबीर

आयुक्त ने दिए जिला कलेक्टरों व जिला पुलिस अधीक्षकों को निर्देश

बीकानेर,  संभागीय आयुक्त सुबीर कुमार ने जिला कलेक्टरों व जिला पुलिस अधीक्षकों से कहा कि संभाग में लोकसभा चुनाव के दौरान शान्ति व कानून व्यवस्था बनी रहे।  उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में चने की खरीद के समय काश्तकारों को कोई परेशानी मुक्त रखने के लिए अभी से भण्डारण व बारदाने आदि की व्यवस्था जरूरत के मुताबिक सुनिश्चित की जाए। 
कुमार मंगलवार को संभागीय आयुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित संभाग स्तरीय कानून व्यवस्था, राजस्व, प्रशासन एवं विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संभाग के ऐसे जिले जिनकी सीमाएं अन्य राज्यों की सीमाओं से लगती है वहां चौकसी अधिक की जाए। जिससे असामाजिक तत्व आने वाले दिनों में अवैध हथियान, वाहन, शराब के साथ प्रवेश कर कानून एवं व्यवस्था को नहीं बिगाड़े। उन्होंने बताया कि 7 अप्रेल 2014 तक काश्तकारों को इंदिरा गांधी नहर परियोजना से सुचारू रूप से पानी मिल सके इसके लिए नहर अभियंताओं को आवश्यक दिशा निर्देश देकर चक्रिय प्रणाली जारी कर दी गई है। क्षेत्रा के राजस्व, पुलिस अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि पानी का उपयोग काश्तकार अपनी बारी व सीमा के तहत ही करें, इसके लिए पुलिस व राजस्व अधिकारी समय-समय पर गश्त करें। 
संभागीय आयुक्त को  बैठक के दौरान  बताया कि पी.बी.एम. अस्पताल में पूर्व में बंदियों के लिए एक पृथक से वार्ड निर्धारित था। जिसे इन दिनों हटा दिया गया है और वहां अब अस्पताल का अनुपयोगी सामान रखा हुआ है। कुमार ने पी.बी.एम. अस्पताल के अधीक्षक को दूरभाष पर निर्देश देकर पाबंद किया कि अगले 15 दिनों में बंदियों के लिए निर्धारित वार्ड पुनः संचालित किया जाए, जिससे बंदियों को पृथक से इलाज के लिए रखा जा सके तथा संभाग मुख्यालय से बाहर से आने वाले बंदियों को सुरक्षा के साथ आवश्यक उपचार की सुविधा प्रदान की जा सके। 
सुबीर कुमार ने सभी जिला कलक्टरों व पुलिस अधीक्षकों से कहा कि वे संभाग में हो रहे विभिन्न आंदोलनों के समय यह आवश्यक रूप से देखे कि कोई आंदोलनकारी पानी की टंकी पर चढ़कर कानून एवं व्यवस्था नहीं बिगाड़े। इसके लिए अपने-अपने जिले में कार्यरत जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को पाबंद किया जाए कि वे अपने विभाग के ओवरहैड के पास सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रखे। साथ ही यह भी देखे कि अगर आंदोलन के प्रारंभ करने की सूचना के बाद समस्या का समाधान जिला स्तर पर होता है तो किया जाए अन्यथा पूरा प्रकरण  राज्य सरकार व संबंधित विभाग को भेजकर आंदोलन को रोकने के सकारात्मक प्रयास किए जाए। आंदोलनों के रूक जाने से स्थानीय अधिकारियों द्वारा अन्य कार्य सुगमता से संपादित किए जा सकते हैं। 
संभागीय आयुक्त ने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्रा के थानों में सी.एल.जी. की बैठक नियमित रूप से करें व बैठक में आने वाले संभ्रात नागरिकों से क्षेत्रा का फीड बैक लें । इन बैठकों के माध्यम से स्थानीय स्तर के अपराधियों पर प्रभावी अंकुश लग सकता है। उन्होंने कहा कि चूरू जिले में अगले माह लगने वाले मेले के दौरान सुरक्षा बल की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए राज्य सरकार को लिखा जाएगा।
दुर्घटनाएं रोकने के किए जाएं प्रयास:- संभागीय आयुक्त  ने कहा कि संभाग के मेगा हाइवे पर दुर्घटनाएं रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाये जाएं, इसके लिए प्रशासन व पुलिस के अधिकारी सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर विस्तृत कार्य योजना बनाएं। उन्होंने कहा कि खतरनाक मोड़ों पर बड़े रिफ्लेक्टर लगाये जाएं। मेगा हाइवे पर ओवर लोडेड वाहन न चलें इस पर विशेष निगरानी रखी जाए, साथ ही बिना नम्बर के वाहन व शराब पीकर वाहन चलाने वालांे के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाए। 
कृषकों को मिले राहत:- सुबीर कुमार ने कहा कि गर्मी के मौसम में कृषकों को खेती के लिए पानी मिले साथ ही आमजन को पेयजल की किल्लत न हो इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने मूंगफली, चना, सरसों, गेहूॅं व गन्ने आदि फसलों को समर्थन मूल्य पर क्रय करने के सम्बन्ध में की जा रही व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि फसलों का भंडारण वेयरहाउस में किया जाए, जिससे बारिश के समय फसलें भीगकर खराब न हों।  इसके लिए पूर्व में ही कार्य योजना बना ली जाए। सुबीर कुमार ने कहा कि गंगानगर जिले में फसलों को ओला वृष्टि से हुए नुकसान के सम्बन्ध में किए गए प्रयासों की जानकारी दी। 
































 

Share this news

Post your comment