Tuesday, 12 December 2017

स्थापना दिवस पर चंदा उडेगा

बीकानेर,  आज शहर में पतंग उडाने का दौर परवान पर रहा शहरवासी सुबह से ही अपनी छतों पर चढकर पतंग उडाने में मशगुल रहे। वही हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी नगर स्थापना दिवस के मौके पर चंदा उडाने की जो परम्परा राजा महाराजा के समय से चलती आ रही है उस परम्परा का निर्वाह किया जायेगा। चंदा बनाने वाले परिवार  व्यासो के चौक के निवासी गणेश व्यास ने बताया कि  चंदा के निर्माण बही खाते के विशेष कागज से तैयार किए जाता है। इस साल उडने वाले  चंदे में राजस्थान मे पड रहे आकाल की झलक को दिखाये गये है। हर वर्ष चंदे का विषय बदलता रहता है। पहले चंदे में जातिगत या रियासत काल का बखान करने वाले चित्र तो कभी समाज के रीतिरिवाज से जुडे चित्रों को उकेरा जाता है । व्यास ने बताया कि यह चंदा उडाने की परम्परा का निर्वाह रियासतकाल से किया जा रहा है। चंदा बनाने में 500 से 1000 रूपये तक का खर्चा होता हैं । चंदा बनाने का कार्य पिछले बीस सालो से कर रहे है। 

Bikaner foundation Day   Chanda - Kite   Akhateez