Sunday, 08 December 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2304 view   Add Comment

जिप्सम देने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

मात्र 200 मेट्रिक टन की सप्लाई दी जा रही

बीकानेर। आरएसएमएम लिमिटेड द्वारा पीओपी फैक्ट्रियों को पर्याप्त मात्रा में जिप्सम उपलब्ध नहीं करवाने पर  ऑल राजस्थान जिप्सम प्लास्टर इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन ने रोष प्रकट किया है। एसोसिएशन ने विरोध स्वरुप कलक्टरी पर प्रदर्शन किया, नारेबाजी करते हुए  शासन सचिव खान एवं खनिज विभाग जयपुर के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया गया है कि संभाग में तीन सौ पीओपी की लघु ईकाईयों को प्रतिदिन प्रति इकाई 30 मेट्रिक टन जिप्सम की आवश्यकता रहती है, इस आधार पर प्रतिदिन इन इकाईयों को 9000 मेट्रिक टन जिप्सम की आवश्यकता है। लेकिन इन इकाइयों को मात्र 200 मेट्रिक टन की सप्लाई दी जा रही है। इसके चलते बड़ी मात्रा में पीओपी की इकाईयां बंद हो चुकी है और जो शेष रही है वह बंद होने के कगार पर हैं। पूर्व में भी मु यमंत्री को ज्ञापन दिया गया था। इस पर आरएसएमएम के जीजीएम ने गुणवतायुक्त जिप्सम के साथ पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति देने का आश्वासन दिया। लेकिन खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि वे अपने वादे पर खरे नहीं उतरे। जीजीएम ने ऐसोसिएशन को बताया कि बल्लर, भुरासर,लारेवाला, डेरियाडेर, ढाणी अब्दुल्ला में पीओपी ग्रेड का जिप्सम नहीं होने के कारण इन ईकाईयों को जिप्सम देने में असमर्थ हैं। इसलिए आरएसएमएम को मैजर मिनरल से माईनर में बदला जाए ताकि खातेदार रॉयल्टी सरकार को देकर अपना माल बेच सके। अन्यथा मजबूरन धरना प्रदर्शन करने पर विवश होना पड़ेगा। ज्ञापन देने वालों में ऐसोसिएशन अध्यक्ष गोपीकिशन गहलोत, ईशरचंद बोथरा, इमीचन्द पूनिया व ईकाईयों से जुड़े लोग शामिल थे।  
 

Share this news

Post your comment