Sunday, 18 August 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2643 view   Add Comment

मण्डी टेक्स से मांगी राहत

दाल व ऊन व्यापारीयोंने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

बीकानेर, राजस्थान वूलन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष कमल कल्ला व बीकानेर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारका प्रसाद पच्चीसिया ने संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति जारी कर राजस्थान के मुख्यमंत्री माननीय अशोक गहलोत से मांग की है कि दाल व ऊन के प्रदेश से बाहर की खरीद पर लगने वाले मण्डी टैक्स को शीघ्र पूर्ण मुक्त कर व्यापारियों को राहत प्रदान की जाए। कमल कल्ला ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि प्रदेश का ऊन व्यवसाय पूरी तरीके से आयात पर निर्भर है और प्रतिदिन डेढ लाख किलो से अधिक ऊन प्रदेश भर में आयातित की जाती है। ऐसी स्थिति में इस ऊन पर मण्डी टैक्स होने से व्यापारियों पर मण्डी टैक्स सहित आयात शुल्क की दोहरी मार पडती है। इस कारण प्रदेश के ऊन व्यावसायियों को दोहरे  लगने वाले इस शुल्क से मुक्ति प्रदान की जाए ताकि राज्य के इस महत्वपूर्ण उद्योग को विकास के नये आयाम दिए जा सके। इसी तरह द्वारका प्रसाद पच्चीसिया ने कहा है प्रतिस्पर्धा के इस युग में दाल का व्यापार पडौसी राज्यों के साथ भी किया जाता है और पडौसी राज्यों में इस तरह का टैक्स न होने से राजस्थान के दाल व्यावसायी को नुकसान का सामना करना पड रहा है। ऐसी स्थिति में जरूरी है कि राज्य के दाल व्यापारी को प्रतिस्पर्धा में टिक सकने के लिए मण्डी टैक्स को माफ किया जाए एवं कृषि मण्डी के प्रपत्र 58 (4) को लागू किया जाए। 

Bikaner Wool, Bikaner Pulses, Rajasthan Woolen Industries, D P Pachchisiya, Mandi Tax, Ashok Gehlot,

Share this news

Post your comment