Wednesday, 18 October 2017

हवेलियों का वैभव भी होगा प्रदर्शित

ऊँट-उत्सव हवेलियों के वैभव की फोटो-प्रदर्शनी

बीकानेर, बीकानेर की अमूल्य हवेलियों के वैभव को देशी-विदेशी सैलानियों के समक्ष पेश करने के लिए ऊँट-उत्सव के दौरान लोकायन संस्था द्वारा एक तीन दिवसीय फोटो-प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। 8 - 10 जनवरी तक आयोजित यह फोटो-प्रदर्शनी ऊँट-उत्सव के उदघाटन दिवस पर ड़ा. करनी सिंह स्टेडियम में तथा उसके अगले दो दिन ऊँट-उत्सव के आयोजन स्थल लाडेरा गाँव में सैलानियों के लिए प्रदर्शित की जाएगी। प्रदर्शनी में बी जी बिस्सा, प्रैस-फॉटोग्राफर अज़ीज़ भुट्टा,  आलम सिन्धी  तथा लोकायन के गोपाल सिंह चौहान द्वारा कैमरे में उतारे गए हवेलियों के अद्वितीय सौंदर्य तथा इनके गौरवशाली इतिहास के चित्रों का प्रदर्शन किया जाएगा। प्रदर्शनी हेतु पर्यटन विभाग द्वारा स्टाल उपलब्ध करवायी गयी है जिसमे  देशी-विदेशी सैलानियों को ऊँट-उत्सव के साथ ही बीकानेर की हवेलियों के गौरवशाली इतिहास और उनके वैभव से परिचित करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

अभियान के संयोजक  चन्द्रकुमार ने बताया कि विश्व स्मारक निधि, न्यूयॉर्क द्वारा हाल ही में निगरानी सूची-2012 में शामिल बीकानेर की हवेलियों ने अंतराष्ट्रीय स्तर पर लोगो का ध्यान खींचा है। निगरानी सूची में शामिल करवाने के बाद हवेलियों के संरक्षण एवं इनके विकास हेतु लोकायन संस्था पुरजोर प्रयास कर रही है। फोटो-प्रदर्शनी द्वारा लोकायन ऊँट-उत्सव के दौरान देश-विदेश से बीकानेर आए पर्यटकों को हवेली संरक्षण के बारे में जानकारी देने और स्थानीय लोगो में अपनी विरासत के संरक्षण हेतु जागरूकता लाने का प्रयास किया जाएगा। इससे पहले भी संस्था अपने न्यूज़लेटर युवायन के हवेली विशेषांक तथा विश्व स्मारक निधि द्वारा हवेलियों को निगरानी सूची में शामिल करने पर एक पोस्टर का विमोचन भी कर चुकी है। 

फोटो-प्रदर्शनी के दौरान आमजन को इस अभियान की जानकारी देने के साथ ही उनसे सतत सहयोग और जुड़ाव हेतु सुझाव भी माँगे जायेंगे ताकि बीकानेर की विरासत को बधाली की दशा से निकाल इंका वैभव पुनर्स्थापित किया जा सके।

Bikaner Haveli   Bikaner Architecture   Bikaner Photo   Gopla Singh Chauhan   B G Bissa   Aziz Bhutta   Ca