Thursday, 21 February 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  1536 view   Add Comment

सीबीआई जांच की मांग

सांय करीब 5 बजे समझौता वार्ता के बाद नीचे उतारा

 बीकानेर । बीकानेर संभाग के हनुमानगढ़ जिले के संगरिया कस्बे में पत्रकार लोकेश सोनी की मृत्यु के मामले की सीबीआई जांच की मांग पर भगतपुरा मार्ग पर उनके 2 बच्चे व भाई  पानी की टंकी पर चढ़ गए।जिन्हे सांय करीब 5 बजे समझौता वार्ता के बाद नीचे उतारा जा सका।इसके साथ ही मौके पर  परिजनों व अन्य लोगों ने राजमार्ग पर जाम लगा दिया।जिसे खुलवाने के प्रयास के दौरान सोमवार को पुलिस व स्थानीय नागरिक भिड़ गए। गुस्साए लोगों ने जाम खुलवा रहे संगरिया थाना प्रभारी भंवरदान व पुलिस कर्मियों पर पत्थर फैंके। इसके जवाब में पुलिस ने भी लाठियां भांजी। इससे थाना प्रभारी को सिर में पत्थर से चोट लगी। इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग कर रास्ता खुलवा दिया। इसके विरोध में लोगों की ओर से पुलिस व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गई। घटना के बाद से संगरिया कस्बे में तनाव  की स्थिति है।सुबह से लेकर शाम तक परिजनों व जिला प्रशासन के अधिकारियों के मध्य वार्ता के कई  दौर चले।सुबह से लेकर शाम तक जिला प्रशासन ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने के लिए राज्य सरकार को लिखने व टंकी पर चढ़े तीन जनों के खिलाफ किसी तरह का मुकदमा नही कराने की मांग पर सहमति बन गई।इसके बाद टंकी पर चढ़े लोकेश का भाई राजेन्द्र तथा लोकेश की दो पुत्रियां पुत्रियां पायल व कंचन  को नीचे उतार लिया गया।इस दौरान टंकी पर चढ़े परिजन व वहां एकत्र भीड़ ने पुलिस तथा प्रशासन सहित संगरिया केस्थानीय राजनेता के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया। इसी दौरान सुनवाई नहीं होने पर भीड़ ने करीब 12 बजे भगतपुरा मार्ग पर जाम लगा दिया। लोकेश के परिजनों के समर्थन में पंचायत समिति के प्रधान हरदीपसिंह शाहपीनी व वृक्षमित्र साहबराम बिश्नोई सहित सोनी समाज के प्रतिनिघि मौके पर मौजूद रहे। जाम खुलवाने के प्रयास में ही पुलिस व भीड़ आपस में भिड़ गए। इससे पहले टंकी पर चढ़े लोगों के समर्थन में वृक्षमित्र साहबराम बिश्नोई तथा कस्बे के लोगों ने पुलिस को मांगों संबंधी पांच सूत्री ज्ञापन दिया।जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि लोगों ने भगतपुरा मार्ग पर जाम लगाया था। पुलिस ने हलका बल प्रयोग कर रास्ता खुलवा दिया। लोगों की पत्थर बाजी से थाना प्रभारी को सिर में मामूली चोट आई है। उल्लेखनीय है कि करीब एक वर्ष पहले पत्रकार लोकेश का शव सतीपुरा के पास मिला। तत्कालीन समय में पुलिस ने इसे संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु का मामला दर्ज किया। इसी घटना की सीबीआई जांच की मांग पर लोकेश का भाई राजेन्द्र तथा लोकेश की दो पुत्रियां पुत्रियां पायल व कंचन भगतपुरा मार्ग पर कृषि विज्ञान केन्द्र में पानी की टंकी पर चढ़ गए। लोकेश के परिजन करीब एक सप्ताह से संगरिया मेें धरना लगा रहे हैं।इस दौरान जिला कलक्टर पीसी किशन व पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप,उपअधिकारी सहित अनेक अधिकारियों ने दिनभर  संगरिया में डेरा डाले रखा।

 

Share this news

Post your comment