Friday, 13 December 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2700 view   Add Comment

वर्ष 2009 में उनतीस सार्वजनिक अवकाश

जयपुर, राज्य सरकार ने कलेण्डर वर्ष 2009 के दौरान समस्त राज्य में उनतीस सार्वजनिक एवं इक्कीस ऐच्छिक अवकाश घोषित किये हैं।
सामान्य प्रशासन विभाग की और से इस सम्बन्ध में जारी विज्ञप्ति के अनुसार गुरूगोविन्द सिंह जयन्ती (5 जनवरी), मोहर्रम (8 जनवरी), गणतंत्र दिवस (26 जनवरी), महाशिवरात्रि (23 फरवरी), बारावफात (10 मार्च), होलिका दहन (10 मार्च), धुलण्डी (11 मार्च), चेटीचण्ड (27 मार्च), रामनवमी (3 अपे*ल), महावीर जयन्ती (7 अपे*ल), गुड फ्राइडे (10 अपे*ल), डाँ. अम्बेडकर जयन्ती (14 अप्रेल) तथा प्रताप जयन्ती (27 मई) को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।
इसके साथ ही रक्षा बन्धन (5 अगस्त), जन्माष्टमी (14 अगस्त), स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त), रामदेव जयन्ती (30 अगस्त), नवरात्र स्थापना (19 सितम्बर), ईदुल फितर (21 सितम्बर), दुर्गाष्टमी (26 सितम्बर), विजय दशमी (28 सितम्बर), महात्मा गांधी जयन्ती (2 अक्टूबर), दीपावली (17 अक्टूबर), गोवर्धन पूजा (18 अक्टूबर), भैया दोज (19 अक्टूबर), गुरूनानक जयन्ती (2 नवम्बर), ईदुल जुहा (28 नवम्बर), क्रिसमस डे (25 दिसम्बर) तथा मोहर्रम (28 दिसम्बर) को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है। विज्ञप्ति के अनुसार वर्ष 2009 में मोहर्रम (ताजिया) दो बार पड रहा है अतः संभावना है कि वर्ष 2010 में मोहर्रम नहीं हो।
राज्य में वर्ष 2009 के दौरान इक्कीस ऐच्छिक अवकाश भी घोषित किये गये हैं। विज्ञप्ति के अनुसार नववर्ष दिवस ( एक जनवरी), देवनारायण जयन्ती (2 फरवरी), विश्वकर्मा जयन्ती (7 फरवरी), स्वामी रामचरण जयन्ती (8 फरवरी), गुरू रविदास जयन्ती (9 फरवरी), गाडगे महाराज जयन्ती (12 फरवरी), महर्षि दयानन्द सरस्वती जयन्ती (19 फरवरी), वैशाखी (13 अप्रेल), सैन जयन्ती (22 अप्रेल), परशुराम जयन्ती (27 अपे*ल), बुद्घ पूर्णिमा (9 मई), गुरू पूर्णिमा (7 जुलाई), शब-ए-बारात (6 अगस्त), थदडी (13 अगस्त), गणेश चतुर्थी, (23 अगस्त), संवत्सरी (24 अगस्त), अनन्त चतुर्दशी (3 सितम्बर), जुमातुलविदा (18 सितम्बर), महानवमी (27 सितम्बर), करवा चौथ (7 अक्टूबर) तथा 23वें तीर्थकर भगवान पार्श्वनाथ जयन्ती (11 दिसम्बर) को ऐच्छिक अवकाश घोषित किया गया है।
विज्ञप्ति के अनुसार वर्ष में समस्त शनिवार एवं रविवार सामान्य सार्वजनिक अवकश रहेंगे। निगोसिएबल इन्स्टमेंट एक्ट की धाराओं के तहत बैंक कर्मचारियों के लिए सार्वजनिक अवकाश अलग से घोषित किये गये हैं।
स्थानीय मेला एवं त्यौहार के उपलक्ष्य में संबंधित जिला कलेक्टर एवं दिल्ली स्थित राजकीय कार्यालयों के लिए प्रमुख निवासीय आयुक्त, दिल्ली दो स्थानीय अवकाश घोषित करेंगे। कोटा जिले म जन्माष्टमी के बाद आने वाला दिन स्वतः जन्माष्टमी के स्थान पर अवकाश के रूप में माना जाएगा।
प्रत्येक कर्मचारी ऐच्छिक अवकाश की सूची में से कोई दो अवकाशों का वर्ष में उपयोग कर सकेंगे। मुस्लिम अवकाश चन्द्रमा दिखाई देने पर निर्भर करेंगे। यह आदेश केवल राजकीय कार्यालयों पर लागू होंगे।


 

Share this news

Post your comment