Monday, 23 October 2017

समानीकरण अस्तित्व का संकट - पुरोहित

शिक्षा विभाग में मंत्रालयिक कर्मचारियों के समानीकरण के विरोध में कर्मचारी महासंघ एकीकृत भी शमिल

बीकानेर, शिक्षा विभाग में मंत्रालयिक कर्मचारियों के समानीकरण के विरोध में कर्मचारी महासंघ एकीकृत भी शमिल हो गय है। बुधवार को शिक्षा निदेशालय में भोजनावकाश के दौरान आयोजित विरोध संभा में महासंघ एकीकृत के पदाधिकारीं शमिल हुए व मंत्रालयिक कर्मचारियों के समानीकरण के विरोध में चल रहे आंदोलन को अपना समर्थन व्यक्त किया। सभा को सम्बोधित करते हुए एकीकृत महासंघ के जिलाध्यक्ष भंवर पुरोहित ने कहा कि मंत्रालयिक कर्मचारियों का समानीकरण कर्मचारियों के अस्तित्व व गरिमा का संकट है। यह वजूद की लडाई है। मंत्रालयिक कर्मचारियों के इस आंदोलन को एकीकृत महासंघ हर स्तर पर पूरा समर्थन करेगा। पुरोहित ने आरोप लगाया कि शिक्षा विभाग में शिक्षा मंत्री के दलाल घूम रहे है। शिक्षक नेता अविनाश व्यास ने कहा कि सरकार मंत्रालयिक कर्मचारियों के समानीकरण के नाम पर पद बढाने की नही तोडने की साजिश रची जा रही है। कर्मचारी नेता सत्य नारायण देवडा ने कहा कि सरकार कर्मचारियों की ताकत को तोलने का प्रयास ना करे। उन्होने आरोप लगाया कि शिक्षा विभाग के अधिकारी सरकार को गुमराह कर रहे है। महासंघ एकीकृत के शंकर पुरोहित ने कहा कि समानीकरण कर्मचारियों का ही क्यो। सरकार के मंत्रियो व अध्किारियों का भी समानीकरण होना चाहिये। सभा को राधेश्याम पुरोहित, आनंद पणिया, रामनाथ आचार्य सुरेश व्यास आदि ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर निदेशालय परिसर में रैली निकालकर शिक्षा मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।  समानीकरण के विरोध में शिक्षा निदेशालय में चल रहें चरणबद्व आंदोलन के क्रम में बुधवार को भी कर्मचारिय ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। गुरूवार को कर्मचारी आधे दिन बाद कार्य का बहिष्कार करेंगे। व रैली रूप में कलेक्ट्रेट पंहुचकर विरोध-प्रदर्शन कर ज्ञापन सौपेगें। 

Ekikrat Mahasangh   Bhanwar Purhoit   Rajesh Vyas   Education Board Employee