Sunday, 21 April 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2250 view   Add Comment

वेतन स्थिरीकरण हेतु पंचायत राज एवं विकास विभाग ने किये आदेष

जिला परिषद के सहायक लेखाधिकारी व वरिष्ठ लेखाधिकारी को किया अधिकृत

बीकानेर शिक्षा व पंचायत राज विभाग के दो पाटो के बीच फॅंसे राज्य के करीब 1 लाख पंचायत राज षिक्षकों के जनवरी 06 से बकाया वेतन स्थिरीकरण कार्य को पूर्ण करने के  लिए करीब दो माह निकलने के बाद पंचायत राज एवं विकास विभाग की आयुक्त व शासन सचिव अर्पणा अरोडा ने जिला परिषद के सहायक लेखाधिकारी व वरिष्ठ लेखाधिकारी को अधिकृत किया है। इस आषय के आदेष जारी होने  से पंचायत राज विभाग के कार्मिको के वेतन स्थिरीकरण को लेकर हो रही असमजसंता की स्थिति समाप्त हो गयी हे।
  इससे पूर्व सर्व षिक्षा अभियान के सहायक लेखाधिकारी को अधिकृत करने के निर्देष प्रारभ्भिक षिक्षा निदेषालय,राजस्थान ने उक्त कार्मिकों के वेतन स्थिरीकरण करने के आदेष जारी किये थे। 
षिक्षक संध राष्ट्रीय के प्रदेषमंत्री रवि आचार्य ने बताया गत दिनो में संगठन षिष्टूमण्डल ने पंचायत राज के आयुक्त व शासन सचिव अर्पणा अरोडा से शासन सचिवालय जयपुर में मिलकर उक्त कार्मिकों की समस्या से अवगत करवाते हुए निस्तारण करने की मॉग की थी। षिष्टमण्डल के समक्ष ही पंचायत राज के वित्तीय सलाहकार को तत्काल ही समस्या का समाधान करने के निर्देष जारी करते हुए आदेष जारी करने की बात कही।
प्रदेषमंत्री रवि आचार्य, पूर्व उपाध्यक्ष चन्द्रषेखर हर्ष,मंडल सयुक्त मंत्री सुरेष व्यास जिलाध्यक्ष ओमप्रकाष विष्नोई प्रदेष सयुक्त मंत्री ओमप्रकाष रोडा जिला उपाध्यक्ष दानाराम, सहसंगठनमंत्री लेखराम गोदारा जिलामंत्री कन्हैयालाल छींपा ने पंचायत राज की शासन सचिव व आयुक्त के ध्यानाकर्षण के साथ ही समस्या निस्तारण करने की सक्रियता व निर्देषो की तत्काल क्रियान्विति करवाने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है।
षिक्षक नेताओ ने कहा कि राज्य सरकार के जुलाई माह मे नये वेतनमान से वेतन भुगतान करने के निर्देषो के बाद भी षिक्षकों को नया वेतनमान दो माह में निकल जाने के बाद भी नही मिलना दुर्भाग्यपूर्ण है तथा प्रारभ्भिक एवं माध्यमिक व संस्कृत षिक्षा सहित सभी विभागो में वेतन स्थिरीकरण का कार्य सितम्बर माह में ही पूरा करवाकर बकाया एरियर भुगतान दीपावली से पूर्व षिक्षकों को करवाने की मॉग की है।
 

Stabilization of wages,

Share this news

Post your comment