Saturday, 24 August 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2088 view   Add Comment

रोजगार गारंटी योजना को देशभर में लागू करने की मांग

३३० जिलों में पहले से ही चल रही है योजना

मध्यावधि चुनाव की आहट के बीच सरकार ने शुक्रवार को महत्वकांक्षी राष्ट्रीय ग्रामिण रोजगार गारंटी योंजना को अगले साल से पूरे देश में लागू करने का फैसला किया है। अब तक यह योजना देश के ३३० जिलों मे लागू थी। कांग्रेस के नवनियुक्त महासचिव राहुल गांधी ने दो दिन पहले प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलकर देश के सभी जिलों को इस योजना के दायरे में लाने की मांग की थी। प्रधानमंत्री मनमोहन सिहं की अध्यक्षता में हुई बैठक में देश के शेष २६५ जिलों में भी अगले वर्ष एक अप्रैल से यह योजना लागू करने का निर्णय लिया गया। ग्रामिण विकास मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने जल्दबाजी में एक प्रेस कॉन्फेंस बुलाकर इस निर्णय की जानकारी दी।

खर्च बढेगा
बैठक में वित मंत्री पी. चिदंबरम और रघुवंश प्रसाद सिंह के अलावा योजना आयोग के सचिव राजीव राजशाह आदि शामिल थे। रघूवंश प्रसाद ने बताया कि पूरे देश में यह योजना लागू करने पर करीब २०,००० करोड रूपये खर्च होने का अनुमान है।

रोजगार घोटाला योजना!
इस महत्वाकांक्षी योजना पर भ्रष्टाचार और घोटालों की छाया भी पड चुकी है। एक अंग्रेजी पत्रिका ने राजस्थान और मध्यप्रदेश पर पेश विशेंष रिपोर्ट मे यह खुलासा किया है। इस रिपोर्ट के अनुसारः

1 ३०-६० फीसदी फंड का दुरूपयोग या अन्य कार्यों में इस्तेमाल,
2 श्रमिकों को भुगतान में देरी या न्युनतम मजदूरी का भुगतान नही,
3 अनियमित काम और जातिवाद का बोलबाला
4 परियोजना की मंजुरी और लागू होने में काफी समय लगेगा।

Share this news

Post your comment