Saturday, 24 August 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2685 view   Add Comment

सरकार की नीति-नियत में खोट -पारीक

ग्राम सेवकों की संघर्ष चेतना यात्रा बीकानेर पंहुची

बीकानेर, प्रदेश के ग्राम सेवकों की लम्बित समस्याओं के निराकरण की मांग तथा मांगों के प्रति ग्राम सेवकों को जागृत करने के उदेश्य को लेकर प्रदेश में निकाली जा रही संघर्ष चेतना यात्रा रविवार केा बीकानेर पंहुची। यात्रा के बीकानेर पंहुचने पर कलेक्ट्रेट स्थित कर्मचारी मैदान में जिले के ग्राम सेवकों की सभा हुई। सभा को राजस्थान ग्राम सेवक संघ के प्रदेश पदाधिकारियों के साथ जिला शाखा के पदाधिकारियों ने भी संबोधित किया। सभा को संबोधित करते हुए संघ के प्रदेशाध्यक्ष मुरारी लाल पारीक ने कहा राज्य सरकार की नीति-नियत दोनो में खोट है। सरकार जानबूझकर प्रदेश के ग्राम सेवकों की वाजिब मांगो तथा पूर्व में हुए समझौतों को लागू करना नही चाहती है। जिसके चलते प्रदेश के ग्राम सेवकों में आक्रोश बढता जा रहा है। पारीक ने कहा कि राज्य सरकार ग्राम सेवकों को उचित पारिश्रमिक नही देने के बावजूद ग्राम सेवकों पर अतिरिक्त कार्य बोझ बढाया गया है। दोषपूर्ण नीतियों के चलते सरकार ग्राम सेवकों के साथ हुए समझौतो को भी लागू नही कर रही है। पारीक ने कहा कि ग्राम सेवक संघ अपनी 50 सूत्री मांगों को लेकर आन्दोलनरत है। इन्ही 50 सूत्री मांगो के निराकरण के साथ प्रदेशभर के ग्राम सेवकों को अपनी मांगो के प्रति जागृत करने के उदेश्य को लेकर संघर्ष चेतना यात्रा 21 जनवरी से 2 फरवरी तक निकाली जा रही है। यात्रा प्रदेश के सभी जिलो में पंहुचकर सभाओं, रैलियों आदी के माध्यम से ग्राम सेवकों की समस्याओं को उजागर करेगी। प्रदेश मंत्री हेमन्त पालीवाल ने कहा कि राज्य सरकार ग्राम सेवकों के साथ छ समझौतें करने के बाद भी उनको लागू नही कर रही है। सरकार चुनावी घोषणा पत्र को भूलने के साथ ग्राम सेवकों की वाजिब मांगो से भी अपना मुंह मोड चुकी है। ऐसी स्थिति मे लोकतांत्रिक तरीके से आन्दोलन की एक मात्र रास्ता बचा है। उन्होने कहा कि अब तक दौसा, भरतपुर, करौली, कोटा, चित्तौडगढ, उदयपुर, पाली, राजसमंद, जोधपुर, नागौर आदी के बाद संघर्ष चेतना यात्रा बीकानेर पंहुची है। यहां से चुरू, अजमेर, टोंक आदी जिलों में पंहुचने के बाद 2 फरवरी को यात्रा का  समापन होगा। सभा को सोहन लाल महामंत्री, संरक्षक सीताराम सहित प्रदेश पदाधिकारियों, जिला शाखा की ओर से डॉ लाल चन्द जिलाध्यक्ष, शिव कुमार कल्ला आदी ने सम्बोधित कर 50 सूत्री मांगों को रखा। 

विधानसभा का घेराव करेंगें
राजस्थान ग्राम सेवक संघ द्वारा 50 सूत्री मांगो को लेकर सरकार के समक्ष संघर्ष चेतना यात्रा, सभाओं, रैलियों के माध्यम से वाजिब मांगे रखी जा रही है। प्रदेशाध्यक्ष मुरारीलाल पारीक ने बताया कि अगर राज्य सरकार मार्च तक ग्राम सेवकों की मांगो पर गौर नही करती है तो मार्च में विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा का घेराव किया जाएगा। महापडाव, जयपुर व दिल्ली में प्रदर्शन, पैदल मार्च, कलम बंद असहयोग आन्दोलन चलाया जाएगा। 

Rajasthan Gram Sewak Sangh, Murali Lal Pareek,

Share this news

Post your comment