Monday, 18 November 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  20682 view   Add Comment

मायानगरी तक पहुंचा वागड़ अंचल के कलाकारों का हुनर

वागड़ अंचल के कलाकारों के निर्देशन में बन रही है त्रिपुरा सुंदरी मां

कपिल सेठिया बने सहनिर्देशक, रितेश पंचाल की गायकी का होगा आकर्षण

 

डूंगरपुर , वागड़ अंचल के कलाकारों का हुनर अब मायानगरी तक पहुंच चुका है और अब यहां की प्रतिभाएं फिल्म निर्देशन व गायकी में अपना जौहर दिखाएंगी। वागड़ अंचल के इन कलाकारों को निर्देशन व गायकी में जलवे दिखाने के लिए मंच प्राप्त हुआ है वागड़ के प्रसिद्ध शक्तिपीठ त्रिपुरा सुंदरी पर बन रही एक राजस्थानी फिल्म में जिसका मुहुर्त रविवार को मुंबई के स्वरलता स्टुडियो में किया गया।


एचआर एंटरटेनर के बैनर तले राजस्थानी फिल्म ‘त्रिपुरा सुन्दरी माँ’ शीर्षक की इस फिल्म के लिए वागड़ के जानेमाने गायक रितेश पंचाल के साथ मुंबई के मोहम्मद सलामत, अनुपमा देशपांडे एवं वैशाली माड़े के स्वरों में गीतों की रिकॉर्डिंग की गई। धार्मिक एवं मार्मिक फिल्म के निर्माता रमेश एस मनात एवं डीजी शुक्ला है, वहीं फिल्म में सह निर्देशक बांसवाड़ा के खांदू कॉलोनी निवासी कपिल सेठिया है। मूलत: एक्टर सेठिया वर्तमान में मुंबई में ही एक धारावाहिक की शूटिंग में लगे हुए है। नरपत सिंह राणावत द्वारा लिखित इस फिल्म में पठकथा एवं संवाद राजू एच पटेल व नुर कुमार कुरैशी ने लिखी है। फिल्म के गीतकार सुधाकर शर्मा एवं संगीतकार श्याम सुन्दर है।
उल्लेखनीय है कि बांसवाड़ा जिले के बोरी गांव के राजू भाई पंचाल ने वागड़ के इस शक्तिपीठ की महिमा को मुंबई जाकर बताया था तब इस फिल्म की आधारशिला रखी गई।
Co-Director Kapil Sethia with Mumbai Artists at Swarlata Studio on the set of Tripura Sundari Maa
 
मुंबई के स्वरलता स्टुडियो में वागड़ के गायक व सह निर्देशक त्रिपुरा सुन्दरी माँ फिल्म की रिकार्डिंग के अवसर पर मुंबई के कलाकारों के साथ।

Share this news

Post your comment