Thursday, 18 July 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  10092 view   Add Comment

गायी द्रोपदी स्वयंवर की गाथा

द्रोपदी स्वयंवर को बड़े ही संगीतमय ढ़ंग से प्रस्तुत कर ...

 

बीकानेर। द्रोपदी स्वयंवर किस तरह हुआ और इस स्वयंवर को लेकर तत्तकालीन समय में क्या परिस्थितियां बनी इसकी जीती जागती तश्वीर शुक्रवार को डूंगर महाविद्यालय के प्रताप सभागार में देखने को मिली। मौका था स्पिक मैके बीकानेर चैप्टर की ओर से आयोजित पद्म विभूषण डॉ तीजन बाई का गायन। डॉ तीजन बाई ने कपाली शैली में द्रोपदी स्वयंवर को बड़े ही संगीतमय ढ़ंग से प्रस्तुत कर उपस्थित जनों की दाद बटोरी। तीजन बाई के साथ गायन में सहकलाकार चेतराम ने कोरस दिया। वही ढोलक पर नरोतम नेताम,तबले पर केवल देशमुख,हारमोनियम पर तिरेन्द्र कुमार ने  संगत दी। इससे पूर्व महाविद्यालय प्राचार्य कृष्णा तोमर राठौड़ ने अतिथियों का स्वागत किया। 

Vibhushan Tijan bai, SPIC Macay Program In Bikaner,

Share this news

Post your comment