Friday, 19 July 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2073 view   Add Comment

अब फिल्मी गीत नहीं बजा सकते

इंदौर। किसी भी सार्वजनिक या व्यावसायिक उपयोग के स्थान पर अब फिल्मी गीत नहीं बजाए जा सकेंगे। वहां फिल्मी गीत बजाने के लिए लाइसेंस लेना होगा। लाइसेंस नहीं लेने पर कॉपीराइट एक्ट के तहत कार्रवाई की जा सकती है। इसमें दो लाख रुपये जुर्माना और तीन साल की सजा का प्रावधान है। फिल्मी गीतों को जारी करने वाली कंपनी फोनोग्राफिक परफार्मेस लिमिटेड मुंबई (पीपीएल) इसके लिए लाइसेंस जारी करेगी। यह लाइसेंस कॉपीराइट एक्ट 1957 के सेक्शन 33, सबसेक्शन 3 के तहत लेना होगा। भारत सरकार के मई 2002 में जारी राजपत्र में समस्त नियमों व प्रावधानों का उल्लेख किया गया है। इसके तहत सार्वजनिक या व्यावसायिक लाभ वाले स्थान जैसे होटल, रेस्टॉरेंट, बार, डिस्कोथेक, सिनेमा हॉल, दुकान, बैंक, ऑफिस, हॉस्पिटल, मनोरंजन पार्क आदि को भी लाइसेंस लेना होगा। कंपनी के मुताबिक अगर चुनावों में वोटरों को लुभाने के लिए प्रत्याशियों द्वारा गीतों का इस्तेमाल किया जाता है, तो उससे भी लाइसेंस फीस वसूली जाएगी। उल्लेखनीय है कि पीपीएल में ए.बी. कार्प, सारेगामा, एचएमवी, यूनिवर्सल, टिप्स, वीनस, सोनी सहित 150 से ज्यादा संगीत कंपनियां रजिस्टर्ड हैं।

Share this news

Post your comment