Friday, 20 October 2017

जैसलमेर तब और अब का का हुआ समापन

बीकानेर के छायाकारों को साहित्य व स्मृति चिन्ह देकर किया सम्मानित

जैसलमेर, जिला प्रषासन पर्यटन विभाग एवं जैसलमेर फोटोग्राफर एसोशियन के तत्वाधान में आयोजित 14 दिवसीय छायाचित्र प्रदर्शनी ‘जैसलमेर तब और अब’ का आज समापन समारोह किया गया प्रदर्शनी के समारोह अवसर पर मुख्य अथिति जिला कलेक्टर एन एल मीणा एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में अतिरिक्त जिला कलेक्टर मानाराम पटेल समाज सेवी महेन्द्र व्यास जैसलमेर विकास समिति के सचिव चन्द्रप्रकाश व्यास साहित्यकार बालकिशन जोशी उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व विधायक किशनसिंह भाटी ने की।इस मौके पर जिला कलेक्टर एल एल मीणा ने प्रदर्शनी को अलोकिक बताते हुए कहा कि यह लगता है कि शताब्दी प्रत्यक्ष उपस्थित हैं। प्रदर्शनी जहां कलाकार के कृतित्व को व्यक्त कर रही हैं वहीं हमारी संस्कृति को भी संरक्षण दे रही है।
मीणा ने जैसलमेर में कलादीर्गा स्थापित  करने मे पूर्ण सहयोगका आश्वासन दिया। एडीएम मानाराम पटेल ने कहा कि प्रदर्शनी में जीवन्त भाव से सृजित छायाचित्र सदैव दर्शक के मन मस्तिष्क में तरोताजा रहेंगे महेन्द्र व्यास ने बताया कि जैसलमेर के अतुल्य सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक परिवेश के विस्तृत कालखण्ड को चित्रों के माध्यम से संजोय रखना छायाकारों  का जैसलमेर पर ऋण रहेगा। जैसलमेर में आर्ट गैलेरी खोलने के लिए जिला कलेक्टर एल एन मीणा ने छाायाकारों को आश्वासन दिया।चन्द्रप्रकाश व्यास के अनुसार छायाचित्रांे में विषय प्रकाश संयोजन रंग आदि तत्व बखुबी दिखाई देते हैं।बालकिशन जोशी के अनुसार छायाचित्र हमारें सांस्कृतिक परिवेश रीतिरिवाज भावात्मक सौहार्द्र को प्रदर्शित करते हैं।
अध्यक्ष उदबोदन में भाटी ने जैसलमेर के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए चित्रों का संरक्षण आने वाली पीढी के लिए दस्तावेजों का संकलन होगा। मरू सांस्कृतिक केन्द्र में दो सप्ताह तक चली छायाचित्र प्रदर्शनी के समापन के मौके पर जैसलमेर  फोटोग्राफ के अध्यक्ष आर के व्यास सुरेश जोशी कैलाश जोशी बीकानेर के वरिष्ठ एवं अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कर से सम्मानित फोटोग्राफर  ऐशोसिऐशन के अध्यक्ष अजीज भुट्टा  छायाकार ओममिश्रा फोटोजर्नलिस्ट आलम हुसैन सिंन्धी अंकित बिस्सा गिरिराज भदाणी एम साकिर रौनक व्यास सहित छायाकारों के 200 से ज्यादा छायाचित्र प्रदर्शित किये गये जिन्हें दो सप्ताह तक देशी विदेशी हजारों सेलानियों ने देखकर खुब प्रशंसा की। इस मौके पर जिला कलेक्टर एल एन मीणा ने सभी छायाकारों को प्रमाण पत्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस मौके पर मरू सांस्कृतिक केन्द्र के संस्थापक नन्दकिशोर शर्मा ने बीकानेर के छायाकारों को साहित्य व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।