Thursday, 14 December 2017

शिवरात्री पर धरणीधर मन्दिर मे होगा विशेष पूजा अर्चना

मंदिर की विशेष साज-सज्जा के श्रृंगार भी होगा विशेष

 बीकानेर। तीन सौ वर्ष से ज्यादा पुरानी आचार्य श्री धरणीधर जी की तप:स्थली धरणीधर महादेव मन्दिर में महाशिवरात्रि का पावन पर्व परम्परागत धार्मिक आयोजनों के साथ मनाया जाएगा। आचार्य श्री धरणीधर ट्रस्ट सचिव जितेन्द्र आचार्य ने बताया कि पूरे मन्दिर परिसर को रंग बिरंगी रोशनी से सजाया गया है। रंग रोगन का कार्य रात दिन हो रहा है। प्रकाण्ड ज्योतिष विद्वान यज्ञाचार्य पं.घनश्याम आचार्य के सानिध्य में प्रथम प्रहर का अभिषेक एवं पूजन तथा नयनाभिराम श्रंगार होगा। पूर्व शहर भाजपा अध्यक्ष रामकिशन आचार्य, पं.आशाराम, दुर्गाशंकर आचार्य, सत्यनारायण, ओमप्रकाश, जयकिशन इत्यादि भक्तगण पूरी रात्रि चारों प्रहर भगवान शिव धरणीधर महादेव का रूद्राभिषेक एवं पूजन एवं भव्य श्रंगार गुलाब के पुष्पों से करेंगे। संगीत संध्या में भगवान शिव के भजनों की प्रस्तुतियां कलाकारों द्वारा दी जाएगी। पूरी रात्रि पूजन के लिए भक्तों के लिए मन्दिर परिसर में ठहरने की व्यवस्था भी ट्रस्ट द्वारा की गई है। वहीं महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर हर्षोलाव तालाब स्थित अमरेश्वर महादेव मन्दिर में शिव परिवार का शास्त्रोक्त विधि से रात्रि के चारों प्रहरों में चार पूजन का आयोजन रखा गया है। पण्डित गोपाल ओझा व महाराजा हर्ष के पांडित्य में होने वाले पूजन कार्यक्रम में रूद्राभिषेक भी किए जाएंगे। जो क्रमश: 101 किलो दूध, औषधियों से मिश्रीत जल, भांग व 51 किलो घृत से सम्पन्न होंगे। प्रमुख साहित्यकार श्रीलाल मोहता द्वारा पण्डितों के निर्देशानुसार सभी अनुष्ठान व पूजन क्रियाएं सम्पन्न कराई जाएगी। जिसमें 21 शिव भक्त निरन्तर रात्रि में उन्हें सहयोग करेंगे।

Dharnidhar Temple   Shivratri   Mahashivratri   Amreshwar Mahadve Temple