Saturday, 21 October 2017

कान्हा के जन्म पर बजी थालियां

शहर की गलियों में देखे गए राधा कृष्णा

बीकानेर । कृष्ण  जन्माष्टमी पर विभिन्न कृष्ण मंदिरों में सजावट कर कृष्ण लीलाओं से संबंधित झांकियां सजाई गई है वहीं घरों में भी विभिन्न प्रकार की झांकियां सजाई गई। प्रसिद्ध लक्ष्मीनाथजी मंदिर,दाउजी मंदिर, मरूनायक मंदिर , बिन्नाणी चौक स्थित रघुनाथ मंदिर में चल रहे जन्माष्टमी महोत्सव के तहत कृष्ण लीलाओं की झांकियों में  भगवान गोविन्द को मोर पंख एवं शिल्पी से बनाए गए बंगले में विराजमान किया गया हैं।  महोत्सव के दौरान मंदिर प्रांगण को रंगबिरंगी रोशनी से सजाया गया है। मंदिर में जहां झालर एवं बांदरवाल झिलमिला रही हैं। श्री गोस्वामी तुलसीदास सत्संग कुटीर में दो दिवसीय जन्माष्टïमी कार्यक्रम का आगाज  हुआ। रात्रि कृष्ण भक्ति संगीत संध्या का आयोजन किया गया।   कोठारी मेडिकल एण्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट में जन्माष्टïमी उत्सव पर विशेष पूजा अर्चना की गई। श्री बी के वी माहेश्वरी इन्सट्टीयूट ऑफ एज्यूकेशन की ओर से भी जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई । संस्थान के सत्यनारायण राठी ने बताया कि इस मौके पर संचेतन झाकियां सजाई ।  रोटरी क्लब मरूधरा की ओर से बेस्ट कृष्ण और बेस्ट राधा प्रतियोगिता आयोजित की गई। रोटरी क्लब मरूधरा के अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने बताया कि सात वर्ष तक के लड़के और लड़कियों ने कृष्ण - राधा के रूप  धरकर अपनी प्रस्तुति दी। सैकड़ों की तादात में विभिन्न वेभूषाओं में सजकर प्रतियोगिता में पहुंचे।  जिसमें ड्रेस, मेकअप, प्रस्तुति, हावभाव और सुन्दरता के आधार पर विजेता रहे बच्चों को पुरस्कृत किया गया। प्रवक्ता आनंद आचार्य ने बताया कि   प्रतियोगिता के निर्णायक इन्डियन आइडल सन्दीप आचार्य , वैभव सचदेव,लता मून्दड़ा व राजेश चूरा थे। उधर दुकानों पर जहां एक से बढ़कर एक ठाकुरी जी पोशाके मिल रही हैं वहीं मुकुट, चंद्रिका, बंशी, पालने आदि भी सजे । इसी तरह इस बार बच्चों में कृष्ण पोशाक का क्रेज होने से मुकुट एवं मुरली के साथ कृष्ण पौशाको की भी बिक्री हुई। अनेक स्थानों पर बच्चों ने कृष्ण व राधिका के रूप धरे शहर में घूमते देखे गये। 

krishna janmashtami Bikaner