Monday, 11 December 2017

नशीले पदार्थों की आपूर्ति रोकने को सख्ती होंगी

पुलिस की डबवाली में इन्टरस्टेट बैठक

सूरतगढ, विकास यादव। राजस्थान से नशीले पदार्थों की आपूर्ति रोकने के लिए  सख्त कदम उठाये जायेंगे। नशीले पदार्थों की आपूर्ति एक बडा खतरा बन गई है। हरियाणा के डबवाली शहर में आज राजस्थान, पंजाब व हरियाणा के पुलिस अधिकारियों की हुई अन्तर्राज्यीज बैठक में यह निर्णय लिया गया।
बैठक में सिरसा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विकास अरोडा, गंगानगर के पुलिस अधीक्षक आलोक वशिष्ठ, हनुमानगढ के पुलिस अधीक्षक राघवेन्द्र सुहासा व बठिण्डा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सहित पंजाब  पुलिस के अन्य अधिकारियों ने भाग लिया। पंजाब व हरियाणा के पुलिस अधिकारियों का कहना था कि राजस्थान से पोस्त, स्मैक सहित अन्य नशीले पदार्थों की तस्करी से कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड रही है। राजस्थान में चूंकि पोस्त आदि पर प्रतिबंध नहीं है, इसलिए यह आसानी से उपलब्ध हो जाता है। इसके साथ स्मैक की तस्करी भी बढी है। पंजाब व हरियाणा से चिपते राजस्थान के कुछ शहर इस मामले में गढ बने हुए हैं। राजस्थान के अधिकारिय  ने भी दोनों राज्यों से हो रही शराब की तस्करी सहित कुछ अन्य मुद्दों को उठाया। अधिकारियों का मानना था कि यदि  नशीले पदार्थों की तस्करी पर रोक न लगी, तो आगामी कुछ वर्षों में कानून व्यवस्था की स्थिति  चौपट हो जायेगी। नशीले पदार्थों के चंगुल में फंसकर लोग अपराधों की दलदल में धंसते जा रहे है। चोरी, डकैती, लूट, हत्या और बलात्कार जैसे संगीन अपराध बढते जा रहे हैं।
बैठक में निर्णय लिया गया कि नशीले पदार्थों की तस्करी रोकने सहित अपराधियों आदि के बारे में सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए समन्वय बढावा जाये। तीनों राज्यों के अधिकारियों ने यह भी तय किया कि डबवाली में एक संयुक्त सैल का गठन किया जाये। यह सेल नशीले पदार्थों की तस्करी रोकने की दिशा में सख्त कदम उठायेगा। बैठक में कुछ अन्य मुद्दों पर भी विचार-विमर्श किया गया।