Thursday, 19 October 2017

बच्चों ने गटकी पोलियों की खुराक

70 फीसदी बच्चों ने गटकी पोलियों की खुराक

बीकानेर, देश को पोलियों रोग मुक्त देश बनाने के चलाये जा रहे राष्ट्रीय पल्स पोलियों अभियान के तहत रविवार को 0 से 5 वर्ष आयु तक के बच्चों का ओरल पोलियों वैक्सीन की खुराक पिलाई गयी। जिले मे तीन दिवसीय पल्स पोलियों अभियान के पहले दिन शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित पोलियों बूथों पर बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाई गयी। विश्व स्वास्थ्य संगठन की बीकानेर जिले की पोलियों अधिकारी डॉ मंजूलता शर्मा ने बताया कि अभियान के पहले दिन 1671 बथों पर बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाई गयी। वही रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड, बाजारो, झुग्गी-झोपडियों में ट्रांजिट टीमों के माध्यम से पोलियों की खुराक पिलायी गयी। जिला अस्पताल में जिला कलक्टर डॉ पृथ्वी ने बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाकर अभियान का शुभारभ्भ किया। इस अवसर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन की और से बीकानेर पोलियों अधिकारी डॉ मंजूलता शर्मा, जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ महेश शर्मा सहित अस्पताल के चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ उपस्थित थे। नत्थुसर गेट के बाहर स्थित सिटी डिस्पेंसरी नः 6 में नगर विकास न्यास के अध्यक्ष हाजी मकसूद अहमद व शहर कांग्रेस अध्यक्ष जनार्दन कल्ला ने पोलियों बूथ का शुभारभ्भ किया। इस अवसर पर न्यास अध्यक्ष ने कहा कि 0 से 5 वर्ष तक की आयु के बच्चों की पोलियों की खुराक पिलाना हम सब का राष्ट्रीय कर्तव्य है। बच्चों को पोलियों की खुराक की दो बूंदे पिलाकर हम उसको जिदंगी भर की अपंगता से बचा सकते है। शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अभियान के दौरान एक भी बच्चा पोलियों की खुराक पीने से वंचित नही रहना चाहिये। एक भी बच्चा अगर पोलियों की खुराक पीने से छूट गया तो समझिये पोलियों सुरक्षा चक्र टूट गया। इस अवसर पर डिस्पेंसरी के चिकित्सा अधिकारी डॉ आरआर मीणा, डॉ पारीक के साथ नरेन्द्र छंगाणी आदी ने बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाने मे सहयोग किया। पल्स पोलियों अभियान के दौरान जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित स्कूलों, कॉलेजों, सामुदायिक भवनों, निजी भवनों, पुस्तकालयों, चिकित्सालयों, डिस्पेंसरियों, स्वास्थ्य केन्द्रों, आगंनवाडी केन्द्रों, सरकारी कार्यालयों, पंचायत भवनों, धर्मशालाओं आदी में स्थापित किये बूथों पर बच्चों को पोलियों की खुराक पिलायी गयी। डॉ करणी सिंह स्टेडियम में चल रहे आर्मी मेले के दौरान ट्रांजिट टीम द्वारा बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाई गयी।
बूथों पर लगी भीड- पल्स पोलियों अभियान के पहले दिन बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाने के लिये माता-पिता व परिवारजनों की भीड लगी। कुछ बूथों पर लाईनों मे लगकर बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाई गयी। बूथों पर पंहुचे बच्चों के माता-पिता व परिवारजन अगले चरण की तिथि जानने को लेकर भी उत्सुक दिखाई दिये। 


70 फीसदी बच्चों ने गटकी पोलियों की खुराक
पल्स पोलियों अभियान के प्रथम् चरण के पहल दिन बूथों पर जिले में लगभग 70 फीसदी बच्चों ने पोलियों की खुराक गटकी। जिला प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सोहन लाल गोदारा के अनुसार प्रारभ्भिक जानकारी के अनुसार बूथों पर अभियान सफल रहा व लगभग 70 फीसदी बच्चों ने पोलियों की खुराक पी। डॉ गोदारा के अनुसार जिले में कुल 4 लाख 18 हजार बच्चों को पोलियों की खुराक पिलाने का लक्ष्य है। अभियान के दूसरे व तीसरे दिन शेष रहे ३0 फीसदी बच्चों को घर-घर जाकर पोलियों की खुराक पिलाकर लक्ष्य शत प्रतिशत प्राप्त कर लिया जायेगा। 

Puls Polio Campaign