Monday, 23 October 2017

अपना घर आश्रम में असहाय लोगों के लिए निःशुुुुल्क भोजन की व्यवस्था

  बीकानेर माहेशवरी सभा  प्रथम कार्यकारिणी बैठक का आयोजन अध्यक्ष द्वारका प्रसाद पचीसिया के नेतृत्व में रानी बाजार स्थित राज मंदिर में किया गया। बैठक के दौरान सर्वसम्मति से माहेष्वरी सभा  में विभिन्न पदों पर मनोनयन हुआ।बैठक में यह निर्णय लिया गया कि रानी बाजार स्थित अपना घर आश्रम में निवास कर रहे  निःशुुुुल्क भोजन की व्यवस्था प्रतिमाह की जायेगी, जिसमें एक समय के भोजन की व्यवस्था माहेष्वरी सभा तथा दुसरे समय के भोजन की व्यवस्था प्रीति क्लब करेगा। 

माहेशवरी सभा द्वारा समय-समय पर रक्तदान षिविरों एवं चिकित्सा षिविरों का आयोजन का निर्णय लिया गया।माहेष्वरी समाज द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं पर भी प्रका डालते हुए बताया कि आर्थिक दृष्टि से सीमित आय वाले जरूरतमंद उद्यमषील को 2 लाख रू. तक ऋण सुविधा मुहैया करवाना, उच्च तकनीकी एवं व्यावसायिक शक्षा प्राप्त मेघावी युवाओं के लिये बैंक द्वारा लिये गये षिक्षा ऋण में 50 प्रतिषत की आर्थिक मदद करना, समाज की विधवा एवं परित्यक्ता बहिनों व अषक्तजनों को मासिक सहायता तथा जरूरतमंद मेघावी छात्र-छात्राओं को उच्च माध्यमिक षिक्षा स्तर तक छात्रवृति प्रदान करवाना, असाध्य बीमारी हेतु 50 हजार रू. की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाना आदि-आदि उद्देष्यों हेतु समाज के कई ट्रस्ट संचालित है। इन सभी योजनाओं के अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने की बात कही गई ताकि समाज इन योजनाओं से लाभान्वित हो सके।सी.ए. विनोद दम्माणी ने माहेष्वरी समाज के युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने का आह्वान किया।सभा के अन्त में महामंत्री किषन कुमार मूंधड़ा ने आगन्तुकों का आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद दिया।इस अवसर पर बाबुलाल मोहता, मोहनलाल चाण्डक, सोहनलाल गट्टाणी, किषन कुमार दम्माणी, बृजमोहन चाण्डक, आज्ञाराम पेड़ीवाल, अषोक सारड़ा, सुनील सारड़ा, विमल दम्माणी, महेष चाण्डक, नारायण मिमाणी, घनष्याम कल्याणी, जुगल राठी, मगन चाण्डक, अषोक बागड़ी, घनष्याम लखाणी, माणक गट्टाणी, नवल राठी, भवानीषंकर राठी, राकेष जाजू, महेष दम्माणी, गोपीकिषन पेड़ीवाल, अषोक राठी, कन्हैयालाल लखोटिया, विजय थिरानी, मनोज चाण्डक, मखन बजाज, नारायण बिहाणी, नारायण डागा, द्वारका प्रसाद लढ्ढा, जयनारायण डागा, प्रकाष मोहता, दाऊ बिनाणी, देवकिषन बजाज, सुखदेव राठी, श्याम सुंदर दरगड़ शामिल हुए।