Monday, 23 October 2017

डॉ शरद हेबालकर रातीघाटी इतिहास पुरस्कार से सम्मानित

21वां रातीघाटी विजय दिवस समारोहपूर्वक मानया

बीकानेर, रातीघाटी शोध एवं विकास समिति बीकानेर तथा भारतीय इतिहास संकलन समिति के संयुक्त तत्वधान में 21 वां रातीघाटी विजय दिवस बधुवार को श्री धनीनाथ गिरी मठ पंच मंदिर प्रांगण में समारहपूर्वक मनाया गया। राजगुरू महामण्डलेश्वर स्वामी विशोकानंद भारती ने दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का शुभारभ किया। समारोह की अध्यक्षता जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर के पूर्व विभागध्यक्ष डॉ कल्याण सिंह ने की। समारोह में रातीघाटी पुरस्कार प्रदान किये गये। डॉ शरद हेबालकर महाराष्ट्र को रातीघाटी इतिहास पुरस्कार से सम्मानित किया गया। विशोकानंद भारती, एडवोकेट धन्ने सिंह राठौड व जानकी नारायण श्रीमाली ने शॉल, स्मृति चिन्ह, प्रशिस्त पत्र व चैक प्रदान कर डॉ हेबालकर को सम्मानित किया। समारोह में डॉ इन्द्र सिंह राजपुरोहित को रातीघाटी कला पुरस्कार, पूर्व उप सम्पाद कल्याण मुकन्द लाल गोस्वामी को रातीघाटी साहित्य पुरस्कार रातीघाटी अलंकरण सम्मान से शिक्षा साहित्य में राम निवास शर्मा , डॉ अब्दुल जब्बार बीकाणवी, डॉ फज गोस्वामी, रमेश कुमार शर्मा तथा डिगंल कवि  गिरधारी दान रतनू को सम्मानित किया गया। वीर चक्र प्राप्त ब्रिगेडियर जगमाल सिंह राठौड को संस्थापक सम्मान से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर शिक्षा, साहित्य, इतिहास, कला सहित विभिन्न क्षेत्रो के गणमान्यजन उपस्थित थे। इससे पूर्व प्रदर्शनी का उद्घाटन डॉ नंद किशोर सैनी ने किया। उपस्थितजनो ने प्रदर्शनी में प्रदर्शित इतिहास, कला, साहित्य आदी क्षेत्रो की पुस्तको का अवलोकन किया। 

Swami Vishokanand Bharati and Rati Ghati Award winners

Ratighati History   Bhartiya Itihas Sankalan Samiti   Vishokanand Bharati   Janaki Narayan Shrimali