Saturday, 16 October 2021

KhabarExpress.com : Local To Global News
  7884 view   Add Comment

जागरूकता के लिए मीडिया से अहम भूमिका निभाने की अपील

बीकानेर,  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. देवेन्द्र चौधरी ने संवाहक बीमारियांे से बेहतर बचाव की दिशा में जागरूकता लाने के लिए मीडिया से अहम भूमिका निभाने की अपील की है। विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके पर सोमवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से कार्यालय सभागार में आयोजित संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए डा. देवेन्द्र चौधरी ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस वर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम -स्मॉल क्रिएचर, बिग थ्रेट रखी है। जिसका उद्देश्य संवाहक जीवों के जरिए फैलने वाली मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया जैसी बीमारियों पर प्रभावी नियंत्राण स्थापित करना है। उन्होंने इन बीमारियों के प्रति समाज में जागरूकता जगाने के लिए मीडिया से अपनी अहम भूमिका निभाने की अपील करते हुए कहा कि इन बीमारियों का खतरा कम करने के लिए जागरूकता ही सबसे बड़ा हथियार है। 
इस मौके पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डा. संदीप अग्रवाल ने कहा कि 1950 से विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रतिवर्ष विशेष थीम के माध्यम से स्वास्थ्य शिक्षा की दिशा में प्रयास करता रहा है। आज इस मौके पर सभी लोगों को संक्रमण बीमारियों के फैलने से रोकने के लिए अपनी भूमिका पूरी ईमानदारी से निभाने का प्रण लेना चाहिए। 
संगोष्ठी में मुख्यमंत्राी निशुल्क दवा योजना बीकानेर के प्रभारी डा. नवल गुप्ता ने मलेरिया रोगियों की स्थिति पर प्रकाश डालते हुए बताया कि पिछले दो वर्षों में विभाग के प्रयासों और आम लोगों की जागरूकता के कारण मलेरिया के रोगियों की संख्या में जिले में 70 फीसदी तक गिरावट आई है। उन्होंने बताया कि बीकानेर में मलेरिया के मच्छर के लिए अगस्त से नवम्बर तक का मौसम सबसे अनुकूल होता है। इस समय लोगों को सबसे ज्यादा सावधानी रखने की आवश्यकता है। लोग मच्छरों को नष्ट करने के लिए विभिन्न उत्पादों के साथ-साथ अपनी टंकी इत्यादि में जमे लार्वा को खत्म करने के लिए गम्बूजिया मछली का भी प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने मच्छर के लार्वा के नमूने दिखाकर इन्हें खत्म करने में गम्बूजिया मछली के उपयोग की भी जानकारी दी।  संवाहक जीवों पर बहुत हद तक नियंत्राण संभव है। ये रोग एक कड़ी जुड़ने से फैलते हैं अतः यदि इस कड़ी को तोड़ दिया जाए तो इन बीमारियों से बचाव कर इनसे होने वाली मौतों को शून्य किया जा सकता है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डा. सागरमल शर्मा ने आम लोगों की भागीदारी बढाने की अपील की। संगोष्ठी में मौजूद अधिकारियों ने संगोष्ठी में उपस्थित प्रेस प्रतिनिधियों को इस दिशा में किए जा रहे विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। संगोष्ठी में डिप्टी सीएमएचआ हेल्थ डा. इन्दिरा प्रभाकर, डीटीओ डा. सी एस मोदी सहित कई अधिकारी और प्रेस प्रतिनिधि मौजूद थे। 
 
 

Tag

Share this news

Post your comment