Wednesday, 13 December 2017

डोगरा ने किया पी.बी.एम.सफाई व्यवस्थाओं का औचक निरीक्षण

लेबररूम व आई.सी.यू. में सभी आवश्यक सुविधाओं की व्यवस्था करने के दिए निर्देश

बीकानेर,जिला कलक्टर आरती डोगरा ने शनिवार को पी.बी.एम.अस्पताल  में सफाई व्यवस्थाओं का औचक निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश दिए। डोगरा ने सुबह पी.बी.एम.अस्पताल के जनाना अस्पताल के विभिन्न वार्डों,ऑपरेशन थियेटर,सोनोग्राफी विभाग,निःशुल्क दवा वितरण केन्द्रों का अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) दुर्गेश बिस्सा तथा अस्पताल के कार्यवाहक अधीक्षक डॉ.सीता राम और जनाना अस्पताल अधीक्षक डॉ.सुदेश अग्रवाल के साथ निरीक्षण किया और अस्पताल के बाहर एवं वार्ड़ो में संतोषजनक सफाई नहीं होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने अस्पताल अधीक्षक को सफाई व्यवस्था को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए और कहा कि 60 दिवसीय कार्ययोजना में सफाई व्यवस्था पर विशेष जोर दिया  गया है। अतः अस्पताल प्रशासन इसे गंभीरता से ले अन्यथा उच्च स्तर पर कार्यवाही के लिए लिखा जायेगा।  
उन्होंने सीवर लाइन से बहते गंदे पानी,सोनोग्राफी जांच कक्ष के बाहर सोनोग्राफी का समय नही दर्शाने तथा पेयजल सप्लाई स्थल पर एकत्रित गंदगी को देखकर अस्पताल प्रशासन से नाराजगी जताई और अधीक्षक को निर्देश दिए कि संबंधित अधिकारी की इसके लिए जिम्मेदारी तय की जाए। उन्होंने कहा कि अस्पताल साफ-सुथरा रहे,इसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाए। जनाना वार्डों में खुले रोशनदानों से पक्षियों के प्रवेश को रोकने के लिए उन्होंने रोशनदान पर जांलिया लगवाने तथा  इन वार्डो में रंग-रोगन की आवश्यकता जताई। 
जिला कलक्टर ने पीबीएम अस्पताल परिसर में अव्यवस्थित पार्किंग व्यवस्था को व्यवस्थित करने पर जोर  दिया और कहा कि पूर्व में हुए निरीक्षण के दौरान वाहनों को नवनिर्मित पार्किंग स्थल में पार्किंग किए जाने के निर्देश दिए थे,परन्तु इस पर ध्यान नहीं दिया जा  रहा है। उन्होंने अधीक्षक को सख्त लहजे में कहा कि यह गंभीर मामला है। समय रहते नए पार्किंग परिसर में वाहनों की पार्किंग सुनिश्चित की जाए।
उन्होंने जनाना वार्ड की ऊपरी मंजिल पर सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा नए वार्डो के निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया और पूछा कि अभी तक इसे अस्पताल प्रशासन ने  अपने अधीन क्यांे नहीं लिया है ? इस पर अधीक्षक ने बताया कि इसमें कुछ कार्य होने शेष है,जिसमें टायलेट का निर्माण,छत की दीवार ऊंची करना आदि कार्य शामिल है।  उन्होंने अस्पताल प्रशासन को बकाया कार्य को शीघ्र पूरा कराने के निर्देश देते हुए सार्वजनिक निर्माण विभाग से इसे लेने के निर्देश दिए। उन्हें  बताया गया कि जनाना वार्ड में नया ऑपरेशन थियेटर यू.आई.टी. द्वारा बनाया गया है,लेकिन यह काम  अभी अधूरा है,जिससे इसका उपयोग नहीं हो पा रहा है। इस पर संबंधित अभियन्ता को निर्देश देते हुए जिला कलक्टर ने कहा कि ऑपरेशन थियेटर के बकाया रहे कार्य को शीघ्र पूरा करवाएं ताकि ओ.टी.के लिए प्राप्त मशीनरी स्थापित की जा सके।
खुली विद्युत लाइनों को दुरूस्त किया जाए-जिला कलक्टर ने जनाना वार्डो के बाहर खुली विद्युत लाइनों से संभावित दुर्घटना को रोकने के लिए अविलम्ब इन्हें सही करवाने के निर्देश दिए और अधीक्षक से कहा कि पूरे अस्पताल की विद्युत व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने इसके लिए अधिशाषी अभियन्ता सार्वजनिक निर्माण विभाग से बिजली की लाइनों को ठीक करवाने के निर्देश दिए।
संबंधित  विभागों को पीबीएम अस्पताल में व्यवस्था सुधारने के दिए निर्देश- जिला कलक्टर आरती डोगरा ने पीबीएम अस्पताल के निरीक्षण के बाद अस्पताल में सफाई व्यवस्था,निर्माण कार्य तथा विद्युत व्यवस्था में रही कमियों को सुधाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों को  दिशा-निर्देश दिए है। उन्होंने  अधीक्षण अभियन्ता ड्ब्ल्यूडी,सचिव नगर विकास न्यास,अधिशासी  अभियन्ता पीड्ब्ल्यू डी (विद्युत),प्राचार्य सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज,अधीक्षक पी.बी.एम.अस्पताल और अधिशाषी अभियंता नगर विकास न्यास को अपने विभाग से संबंधित अस्पताल के  कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए है। 
प्रार्चाय डॉ.बम्ब को पीबीएम अस्पताल के हालात सुधाने के दिए निर्देश-जिला कलक्टर आरती डोगरा ने शनिवार को पी.बी.एम.अस्पताल के निरीक्षण के बाद सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.राम अवतार बम्ब के साथ बैठक कर कहा कि पी.बी.एम. अस्पताल की सफाई व्यवस्था की स्थिति चिन्ता जनक है। इसमें आमूल-चूल सुधार की जरूरत है।  उन्होंने कहा कि अस्पताल के विभिन्न वार्डो और अस्पताल के पूरे परिसर की सफाई व्यवस्था के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाए। अस्पताल प्रशासन अपने उपलब्ध बजट का बेहतर उपयोग करें। उन्होंने सफाई ठेकेदारों के साथ बैठक आयोजित कर,व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल परिसर में जगह-जगह पडे़ नकारा सामान के निस्तारण के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नकारा सामान से वार्डों के आस-पास गंदगी नजर आती है। अतः इसे समय रहते निस्तारित कर दिया जाता है तो अस्पताल परिसर साफ-सुथरा नज़र आएगा। साथ ही उन्होंने आपातकालीन इकाई,लेबररूम व आई.सी.यू. में सभी आवश्यक सुविधाओं की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।