Saturday, 21 October 2017

कोपेनहेगन सम्मेलन असफलता के कगार पर

ग्लोबल वार्मिंग पर चल रहे कोपेनहेगन सम्मेलन एक ऐसे मोड़ पर जा पहुंचा है जहां इसके असफल होने की संभावना प्रबल हो गई है। भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भी इसकी अंतिम बैठक में हिस्सा नहीं लेने की संभावना जताई जाने लगी है। भारत समेत अन्य विकासशील देशों ने विकसित देशों द्वारा थोपी जा रहीं उत्सर्जन संबंधी बाध्यकारी शर्तों को मानने से साफ इंकार कर दिया है। रविवार की रात सम्पन्न अहम बैठक में कई अफ्रीकी देशों ने भी साफ संकेत दिए कि उनके प्रमुख अंतिम सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेंगे, अगर आने वाले तीन दिनों में महत्वपूर्ण निर्णय नहीं होते हैं।

 

Copenhagen   Prime Minister Manmohan Singh