Friday, 20 October 2017

खबरएक्सप्रेस एक अद्भुत वेबसाइट संदीप आचार्य

खबरएक्सप्रेस डॉट काँम को बीकानेर से संचालित एक अद्भूत न्यूज पोर्टल बताते हुए संदीप आचार्य ने कहा कि आज का युग मीडिया का युग है और मीडिया मे व्यक्तित्व को छोटा या बडा करने की अद्भूत ताकत है। पेश है श्याम नारायण रंगा द्वारा संदीप आचार्य से की गई बातचीत के प्रमुख अंशः-

सोनी टी वी के चचित प्रोग्राम इण्डियन आइडोल-२ के विजेता संदीप आचार्य ने खबरएक्सप्रेस कार्यालय में न्यूज पोर्टल खबरएक्सप्रेस डाट काँम को अवलोकन किया।
Sandeep Acharya (Indian Idol 2) with Anand Acharya CEO of Khabarexpress.com
संदीप आचार्य ने  बताया कि बीकानेर जैसे एक ऐतिहासिक शहर से निकलकर मायानगरी मुम्बई मे जाना और एक सेलिब्रिटी बनना एक अद्भूत अनुभव है जिंदगी में सोचा नहीं था कि इतना सब हो जाएगा  और यह सब काफी अच्छा लगता है संदीप ने कहा कि इसका सारा श्रेय बीकानेर सहित भारत की पूरी जनता को जाता है जिसका आपार स्नेह और प्यार मिला और फिर मेहनत व बुजुर्गों के  आर्शीवाद ने इस मुकाम तक पहचाया।
संदीप आचार्य ने अपने केरियर के बारे मे कहा कि अभी तो शुरूआत की है। एक प्लेटफोर्म मिला है और आगे और आगे जाना है। एक लम्बी इनिंग खेलनी है। उदित नारायण को पसंद करने वाले संदीप ने कहा कि वह उदित जी की नकल नहीं करता बल्कि वह उदित जी को पसंद करता है और शायद यही कारण है कि उदित जी की नकल हो जाती है संदीप ने कहा कि शुरूआती दौर मे तो यह समस्या थी कि वह ऊचें स्वर के गाने गाने में  दिक्कत होती थी लेकिन  लगातार रियाज व मेहनत इस समस्या को हल कर दिया, अब कोई दिक्कत नहीं है।
मिलेनियम स्टार अमिताभ बच्चन से मुलाकात में याद करते हुए संदीप कहता है। कि यह एक अद्भत अनुभव था। अमित जी के साथ बैठना, बातचीत करना व उनके साथ परफार्म करना एक स्वार्णिम अनुभव था जो उसे हमेशा याद रहेगा। संदीप ने बताया है कि  अमिताभ बच्चन काफी विनम्र व्यक्तित्व है व उसे काफी हौसला दिया व हिम्मत दी। अमिताभ जी का जितना बडा नाम है उतना ही बडा उनका दिल भी है । संदीप ने कहा कि यह एक उम्र भर याद रहने वाला क्षण था।
Sandeep Acharya with Shyam Naraaya Rangaअपनी शादी के बारे में पूछे गए एक सवाल का जबाव देते हुए संदीप ने अपने पापा की तरफ देखा और कहा कि ये तो पापा व मम्मी का काम है और वह उनकी पसन्द से ही शादी करेगा। 
 इडियंन ऑयडाल-२ ने कहा कि वह आप अपने दादाजी ’’स्व दाऊलाल जी आचार्य‘‘ को काफी याद करता है। और उन्ही का आर्षीवाद है कि वह आज लगातार सफलता की और बढ रहा है। संदीप ने बताया कि उसके दादाजी का सपना था कि बीकानेर ने एक संगीत का संस्थान खोला जाए वहां बीकानेर हर के गायक कलाकारों के तैयार किया जाए और एक दिन वह यह सपना जरूर पूरा करेंगे। 
संदीप को अपने हर और अपने दोस्तों की बहुत याद आती है और जब भी मौका मिलता है वह उनसे जरूर बात करता है। संदीप ने बताया कि उसे आज भी याद है कि वह शुरूआती दिनों में स्टेज के नाम से भी डरता था और अब वह लाखों लोगों के सामने गा सकता है। यह सब इस बात का प्रमाण है कि अगर आदमी सोच ले तो कुछ भी असंभव नहीं है।
खबरएक्सप्रेस के विजिटर्स के लिए इंडियन आइडाल २ ने कहा कि खबरएक्सप्रेस एक तकनीकी रूप से उन्नत वेबसाइट है और इसका हर पेज अपने आप में पूरी स्टोरी है। संदीप आचार्य ने खबरएक्सप्रेस के उज्ज्वल भविश्य की कामना की।

Sandeep Acharya   Interview of Sandeep Acharya