Sunday, 21 July 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2511 view   Add Comment

नैतिक मूल्यों पर आधारित पत्रकारिता समय की मांग

समाज में लोकतांत्रिक मूल्यों को बढ़ावा देने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका

 वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. मदन केवलिया ने कहा है कि समाज में  लोकतांत्रिक मूल्यों को बढ़ावा देने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका है।  प्रेस स्वतंत्र अभिव्यक्ति का माध्यम बन जनहित के मुद्दों को प्रभावी ढंग  से उठाती है। केवलिया शनिवार को राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर सूचना एवं  जनसम्पर्क कार्यालय तथा प्रतिमान संस्थान के संयु?त तत्वावधान में  सादुलगंज में आयोजित ‘‘जनहित सेवा में मीडिया की भूमिका’’ विषयक  गोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रेस की  स्वतंत्रता का प्रश्न दायित्व बोध से भी जुड़ा है। सामाजिक सरोकारों का  निर्वहन प्रेस का महत्वपूर्ण दायित्व ह,ै जिस पर खरा उतरने का प्रयास ही  पत्रकारिता की सफलता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि मीडिया ऐसी  ज्ञानवर्धक सामग्री प्रस्तुत करे, जिससे समाज को एक नई दिशा मिले।केवलिया ने कहा कि मीडिया ‘जनरूचि’ और ‘जनहित’ में  जारी खबरों में अन्तर करे।  सनसनीखेज और साधारण मुद्दों को महत्व न  देते हुए विकास सम्बन्धी रिपोर्टिंग तथा सकारात्मक समाचार प्रस्तुत किए  जाएं। जनहित के अभिरक्षक के रूप में मीडिया आमजन को निष्पक्ष व  शालीन तरीके से जनहित के मामलों की जानकारी दे। उन्होंने कहा कि  नैतिक मूल्यों पर आधारित पत्रकारिता समय की मांग है। जनसम्पर्क विभाग के उपनिदेशक दिनेशचन्द्र सक्सेना ने कहा  कि प्रेस, प्रशासन की सूचनाओं को आमजन तक तथा जनता की  समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाने का सश?त माध्यम है। लोकतंत्र के  चौथे स्तम्भ के रूप में मीडिया अपनी प्रभावी भूमिका का निर्वाह कर  लोकतंत्र के तीनों स्तम्भों तथा आमजन के बीच सेतु का कार्य कर रहा है।  डूंगर कॉलेज के हिन्दी व्याख्याता डॉ. एजाज अहमद कादरी ने कहा कि  पत्रकारों को, उनकी कलम से निकले समाचारों का समाज में ?या असर  होगा, इसके मद्देनजर अपनी कलम चलानी चाहिए।  जनसम्पर्क  कार्यालय के सहायक निदेशक विकास हर्ष ने कहा कि प्रेस को  तथ्यात्मकता पर विशेष बल देना चाहिए। मीडिया निष्पक्ष और स्वतंत्र  चुनाव सम्पन्न कराने में अपनी उल्लेखनीय भूमिका निभा सकती है।  पत्रकारिता विषय की शोध छात्रा दीपिका व्यास ने कहा कि प्रेस आयोग ने  मीडिया की स्वतंत्रता को बनाए रखने तथा पत्रकारिता के उच्च आदर्शों को  कायम रखने के लिए राष्ट्रीय प्रेस परिषद की स्थापना की। सहायक  जनसम्पर्क अधिकारी शरद केवलिया ने आभार व्यक्त किया तथा कार्यक्रम  का संचालन सहायक जनसम्पर्क अधिकारी हरिशंकर आचार्य ने किया।  इस अवसर पर पुस्तकालयाध्यक्ष राजेन्द्र भार्गव सहित गणमान्य लोग व  विद्यार्थी उपस्थित थे। 

 

 

journalism, madan kewaliya, media, dinesh chandra saxena, rajendra bhargav,

Share this news

Post your comment