Wednesday, 13 December 2017

पूर्व सैनिकों को नियोजन के लिए शैक्षणिक योग्यता में छूट

सिविल सेवा नियम 1988 में संशोधन

बीकानेर, 20 फरवरी। कार्मिक विभाग क-2 द्वारा राजस्थान सिविल सेवा (भूतपूर्व सैनिकों का आमेलन) नियम 1988 में संशोधन कर पूर्व सैनिकों को नियोजन के लिए शैक्षणिक योग्यता में छूट प्रदान की गई है। 
जिला सैनिक कल्याण अधिकारी बी.एस.भाटी ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार राज्य सरकार में नियोजन के लिए शैक्षणिक योग्यता में छूट दी गई है। अधिसूचना के अनुसार अधीनस्थ या लिपिक वर्गीय सेवा पदों में भूतपूर्व सैनिकों के लिए आरक्षिक किसी किसी रि€त पद नियु€ित के लिए किसी मैट्रि€यूलेट भूतपूर्व सैनिक ने शिक्षा का विशेष प्रमाण पत्र प्राप्त किया है तथा जिसने संघ के सशस्त्र बलों (थल सेना, वायु सेना या नौ सेना ) में 15 वर्ष से अन्यून की सेवा की है वह उन पदों पर जिनमें शैक्षणिक योग्यता स्नातक मांगी गई हो के लिए ही आवेदन कर सकेंगे।
इसी तरह अधीनस्थ, लिपिक वर्गीय या चतुर्थ श्रेणी सेवा के पदों में जहां विििहत न्यूनतम शैक्षणिक अर्हता, मैट्रि€यूलेट है, भूतपूर्व सैनिकों के लिए आरक्षित किसी रि€त पद पर नियु€ित के लिए, नियु€ित अधिकारी स्व विवेकानुसार किसी ऐसे भूतपूर्व सैनिक के पक्ष में न्यूनतम शैक्षणिक अर्हता शिथिल कर सकेगा, जिसने भारतीय थल सेना श्रेणी प्रथम परीक्षा या जल सेना व वायु सेना में समतुल्य परीक्षा उत्तीर्ण की है और जिसने संघ के सशस्त्र बलों में कम से कम 15 वर्ष की सेवा की है, आवेदन के योग्य समझा जाएगा। 
 

Civil Services Rules