Monday, 23 October 2017

चुनाव प्रक्रिया सम्बंधी दो दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न

प्रशिक्षण में आदर्श आचार संहिता और इससे जुड़े कानूनी प्रावधानों के बारे में दी जानकारी

बीकानेर, आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर  संभाग के चारों जिलों के राजस्थान प्रशासनिक व तहसीलदार सेवा के अधिकारियों की लोकसभा चुनाव प्रक्रिया सम्बंधी दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला मंगलवार को स्वास्थ्य भवन सभागार में सम्पन्न हुई।। प्रशिक्षण के अंतिम दिन मास्टर टे्रनर व उपनिवेशन विभाग के अतिरि€त आयु€त राजेन्द्र मिश्रा ने   प्रशिक्षणार्थियों को आदर्श आचार संहिता, ईआरओ के कार्य आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मिश्रा ने चुनाव प्रक्रिया के दौरान आदर्श आचार संहिता और इससे जुड़े कानूनी प्रावधानों के बारे में बताया। आचार संहिता की अनुपालना सुनिश्चित करवाने के लिए अधिकारियों को इसके विभिन्न पहलूओं, क्षेत्रों और निर्देशों को ध्यान में रखते हुए कार्य करना होता है। अत: सभी अधिकारी आचार संहिता के प्रावधानों और निर्देशों को ध्यान से पढें।  उन्होंने कहा कि मतदान की गोपनीयता को बनाए रखना निर्वाचन अधिकारियों की जिम्मेदारी है। इसकी गोपनीयता भंग करने व मतदान प्रक्रिया का पालन नहीं करने पर मतदाता को मताधिकार का उपयोग नहीं करने दिया जाएगा। ऐसे मतदाता को मतदान पर्ची जारी कर दी गई है तो उसे वापस लेकर मतदाता रजिस्ट्रर में टिप्पणी अंकित करनी होगी। साथ ही मत देते हुए किसी भी मतदाता की फोटो नहीं ली जा सकती । मिश्रा ने बताया कि दृष्टिहीन मतदाताओं के लिए ब्रेल लिपि में पीठासीन अधिकारी के पास डमी बैलेट सीट रखी जाएगी जिससे वह मतदाता उसे पढक़र मतदाता उसे पढक़र मतदान कक्ष में बैलेट यूनिट पर नीले बटन के सामने ब्रेल लिपि के स्टीकर से अभ्यर्थी का क्रमांक समझकर मतदान कर सके। कार्यशाला में मिश्रा ने प्रशिक्षणार्थियों के चुनाव प्रक्रिया के दौरान आने वाली विभिन्न व्यावहारिक समस्याओं से जुड़े सवालों के भी जवाब दिए। इस मौके पर प्रशिक्षणार्थियों से चुनाव प्रक्रिया और नियमों से जुड़े प्रश्नों पर आधारित स्व मूल्यांकन पपत्र भी हल करवाया गया। 


 

 

eletion near loksabha ilection