Tuesday, 12 December 2017

जैन महासभा अभिनंदन समारोह 22 को

संचालक मंडल की बैठक में निर्णय लिया

 बीकानेर, 24 अगस्त। जैन महासभा द्वारा सामूहिक क्षमापना एवं तप अभिनंदन समारोह 22 सितम्बर को प्रात: साढ़े नौ बजे तेरापंथ भवन में आयोजित होगा। महासभा के अध्यक्ष आई एम सुराणा ने बताया कि संचालक मंडल की बैठक में निर्णय लिया गया है कि इस वर्ष 8 एवं इनसे ऊपर की जिन लोगों ने तपस्या की है, उनका जैन महासभा अभिनन्दन करेगी। इस हेतु सभी तपसीजन अपना नाम, तपस्या, पता एवं मोबाइल नंबर अपने संघ के अध्यक्ष को या जैन महासभा को सूचित करावें। जैन महासभा के महामंत्री जैन लूणकरण छाजेड़ ने बताया कि महासभा ने भगवान महावीर के 2600वें जन्म कल्याणक के शुभ अवसर पर \'21 व्यंजन सीमा अभियानÓ प्रारंभ किया था, जिसका उद्देश्य समाज में समानता का वातावरण बनाना है। उन्होंने अपील की कि कोई भी व्यक्ति अपने यहां आयोजित होने वाले विवाह, जन्म अथवा गृह प्रवेश इत्यादि अवसरों पर 21 व्यंजन से अधिक न बनावें, न परोसें व न खावें। जैन महासभा ने निर्णय लिया है कि जो व्यक्ति इस सीमा अभियान को अपने घर में लागू करेगा, उसका अभिनंदन किया जायेगा। ऐसे व्यक्ति अपना नाम, जैन महासभा को अथवा अपने अध्यक्ष को नोट अवश्य करावें। वर्ष की गणना 1 जुलाई से 30 जून तक की जायेगी। यह सम्मान समारोह भी सामूहिक क्षमापना के अवसर पर किया जायेगा। यह सम्मान समारोह अगले वर्ष से प्रारंभ होगा। छाजेड़ ने बताया कि जैन महासभा की आमसभा 15 सितम्बर दोपहर 3 बजे आयोजित की जायेगी। बैठक में विजय कोचर, इंद्रमल सुराणा, सुरेन्द्र कुमार जैन, लूणकरण छाजेड़, दुल्लीचंद बुच्चा, जसकरण छाजेड़, निर्मल कुमार दस्साणी, विनोद कुमार बाफना, मानमल सेठिया, चंपकमल सुराणा, सूरजराज जैन, सोमचंद सिंघवी, जतनलाल संचेती, मनोज सेठिया इत्यादि उपस्थित थे।

Jain Samaj