Thursday, 14 December 2017

नायक समाज ने दी आन्दोलन की चेतावनी

आज तक विकास जनक आरक्षण का फायदा नहीं उठा

बीकानेर। जिले के नोखा तहसील में नायक समाज के युवाओं की एक बैठक हुई। जिसमें स्थानीय प्रशासन   द्वारा  राजनैतिक रंजिश के चलते नायक समाज को  अनुसुचित जनजाति का प्रमाण पत्र नहीं देने का आरोप लगाते हुये आन्दोलन की चेतावनी दी है। युवाओं ने आरोप लगाया है कि नोखा के राजनेता अपने वोट  बैंक को मजबूत करने के चक्कर में  नायक जनजाति को गुमराह कर रहे है। इसके पीछे कारण दूसरी जनजातियों को  खुश रखकर वोट प्राप्त करना है ।  नायक  महासभा के  सीताराम  नायक ने कहा कि  नायक समाज के लोग अशिक्षित होने के  कारण आज तक विकास जनक आरक्षण  का फायदा नहीं उठा सकीं। प्रशासन  लापरवाह होकर नायक जनजाति को एससी  का प्रमाण प्रत्र जारी कर रहा है।  दूसरी तहसीलों में नायक जनजाति को एसटी  का प्रमाण प्रत्र दिया जा रहा है। नोखा  के ज्यादातर नायक आज भी जनजाति कि  तरह जीवन व्यापन करने को मजबूर है।  नोखा में नायकों की ढ़ाणियों में न बिजली  है न पानी है। नायक ने कहा कि  नरक जैसा जीवन व्यापन  करने वाली इस जनजाति पर कभी किसी  नेता ने ध्यान नहीं दिया। नायक समाज के लोगों ने प्रसाशन को  चेतावनी देते हुए कहा यदि समय रहते उनकी इस जायज मांग की ओर ध्यान नहीं दिया गया तो बड़े स्तर पर आन्दोलन किया जायेगा। नायक जनजाति को  एसटी का प्रमाण पत्र दिलवाने के लिए  नायक समाज के लोक प्रिय नेताओं ने  गांवों का दौरा शुरू कर दिया हैं।    उधर दलित नेता मंगनाराम केडली ने  कहा की एक ही जाति के दो तरह जाति  प्रमाण पत्र बनाने वालों के खिलाफ  मुकदमा दायर किया जायें । नोखा के  युवा लीडर राजेन्द्रसिंह सीलवा का कहना  है कि नोखा के नायक जनजाति को मिलें  आरक्षण का लाभ मीणा जैसी जनजाति के  लोग   उठा रहें है। नोखा के कई सामाजिक संगठन  नायक जनजाति को खुलकर समर्थन दे रहें  है। 

 

Nayak samaj