Saturday, 26 September 2020
KhabarExpress.com : Local To Global News
  1962 view   Add Comment

मुख्यमंत्री द्वारा प्रदान की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग निर्देश

दुष्प्रचार की कोशिशों को प्रभावी तरीके रोका जाए

बीकानेर। मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने कहा है किअपराधियेां के  विरूद्ध तत्काल कार्यवाही करते हुए उन्हें गिर तार किया जाए जिससे कानून व्यवस्था बनी रहे। देरी से गिर तारी होने अथवा अन्य कार्यवाही होने से अपराधियों के हौसले बढ़ते हैं, साथ ही कानून व्यवस्था भी बिगड़ती है। मुख्यमंत्री  शनिवार को चार चरणों की वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रदेश की कानून व्यवस्था एवं पुलिस संबंधी, सड़कों की स्थिति एवं सुधार की कार्ययोजना, रबी के लिए बिजली आपूर्ति की स्थिति, खाद्य सुरक्षा अधिनियम की समीक्षा, शहरी विकास व सेवा गारण्टी अधिनियम, सुनवाई का अधिकार व चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में धार्मिक उत्सव बहुत हैं। इस दौरान असामाजिक लोगों द्वारा किसी तरह की कानून व्यवस्था न बिगाड़ी जाए, इसके मद्देनजर पहले से ही स ती बरती जावे। उन्होंने कहा कि सा प्रदायिक तनाव बढ़ाने जैसी कार्यवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पुलिस अधिकारी अपने स्तर पर सूचना तंत्रा इतना मजबूत रखें कि घटना घटित होते ही तत्काल खबर अधिकारी तक पहुंच जाए। पुलिस के स्थानीय अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि किसी भी परिस्थिति में निर्णय स्वयं लेकर कानून व्यवस्था का संधारण रखेंगे। गहलोत ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के चलतें अवांछनीय व्यक्तियों द्वारा किए जाने वाले साइबर व एमएमएस और एसएमएस के माध्यम से सा प्रदायिक सौहार्द को बिगाडऩे के लिए हो रहे, दुष्प्रचार की कोशिशों को प्रभावी तरीके रोका जाए। बैठक में आंतरिक सुरक्षा, सीमा सुरक्षा प्रबंधन, कानून व्यवस्था संबंधित चुनौतियों, आतंकवाद व सा प्रदायिकता के मुद्दों पर पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से जानकारी दी गई। मु यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश के सभी बीपीएल व एपीएल विद्युत उपभोक्ताओं को दो-दो सीएफएल नि:शुल्क वितरित किए जाएंगे। इसके लिए सहायक अभियंता कार्यालय स्तर पर अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में राष्ट्रीय, राज्य मार्ग व जिले की अंदरूनी सड़कों आदि के पेंचवर्क और रिकॉर्पेंटिंग के कार्य शीघ्र प्रार भ किए जाएं जिससे आवागमन सुचारू हो सके। उन्होंने कहा कि व्यस्त सड़कों को प्रमुखता से ठीक किया जाए। सड़कों की मर मत आदि के कार्य प्रभावी तरीके से हों, इसके लिए सभी जिला कलक्टर एक बैठक पृथक से लेकर सड़क के कार्यों को कार्ययोजना के तहत निस्तारित करें। 

 

Tag

Share this news

Post your comment