Tuesday, 24 October 2017

हवा हो गये कलक्टर की हिदायत !

प्रधानों की मीटिंग भी अभी तक नहीं ली

बीकानेर। उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बावजूद बाल वाहिनियों में ओवरलोड रोकने में न तो प्रशासन गंभीर है और न ही स्कूल प्रशासन। इसे पिछले दिनों जिला कलक्टर आरती डोगरा ने अधिकारियों को सख्त के निर्देश दिये  लेकिन कलक्टर के आदेशों की पालना में परिवहन विभाग और पुलिस के साथ स्कूलों के प्रशासक भी बेपरवाह बने हुए। इसी का नतीजा है कि शहर की सड़कों पर आज भी बड़ी तादाद में स्कूली बच्चों के लादे टैक्सियां और बाल वाहनियां दौड़ती नजर आ रही है । कलक्टर ने   हिदायत के साथ निर्देश दिये थे कि  कोई भी ऑटो चालक अपने ऑटो में छह से ज्यादा बच्चे नहीं बिठाएगा। इसके बावजूद अब भी कई ऑटो में बच्चों को ठूंस-ठूंसकर बैठाया जा रहा है। इसके लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को भी पाबंद कर नियम विरुद्ध बाल वाहिनियों का संचालन करने वाले चालकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया गया था। इधर, आज दिन न तो इनके विरुद्ध कार्रवाई की गई और न ही प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी मॉनिटरिंग के लिए अभी तक समय मिला। इसके साथ ही एक सप्ताह में होने वाली संस्था प्रधानों की मीटिंग भी अभी तक नहीं ली गई है। 
 
 

collector directed