Friday, 20 October 2017

मगनराजजी की स्मृति मे हुआ नाद का आयोजन

श्री मगनराज उपाध्याय मेमोरियल सोसायटी,नागौर द्वारा दो दिवसीय षास्त्रीय संगीत कार्यक्रम

नागौर, नगर के प्रख्यात तबलावादक स्व.पं. मगनराजजी उपाध्याय की स्मृति में श्री मगनराज उपाध्याय मेमोरियल सोसायटी,नागौर द्वारा दो दिवसीय षास्त्रीय संगीत कार्यक्रम नाद का आज सायंकालीन अवसर पर चांदीवाड़ा में षुभारम्भ हुआ ।

कार्यक्रम का षुभारम्भ स्व.पं. मगनराजजी उपाध्याय के अनुज भीमराज उपाध्याय ने मां सरस्वती को माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया ।
स्व.पं.  मगनराज  उपाध्याय के जीवन पर आघारित एक वृत चित्र का प्रदर्षन सुनीलकुमार त्रिवेदी द्वारा किया गया ।  जितेन्द्र षर्मा द्वारा तीन ताल में एकल तबला वादन प्रस्तुत किया । आपने तीन ताल में उठान, पेषकार, कायदे, टुकड़े,परने एवं रेला पेष कर श्रोताओ की खूब वाह वाही लूटी । आपके साथ हारमोनियम परषेखर षर्मा ने संगत की ।
कार्यक्रम के दूसरे चरण का आरम्भ पद्म विभूषण पं. श्री विष्वमोहन के षिप्य डी एल षर्मा जयपुर के मोहन वीणा वादन से हुआ आपने तीनताल में निबद्ध राग आभोगी में आलाप, जोड,़ गत एवं झाला बजाया । आप विभिन्न लयकारीयों में अत्यन्त निपुण है । इसके बाद झपताल में निबद्ध राग मेघ मे एक गत तथा कार्यक्रम का समापन दादरा ताल में निबद्ध राग पहाडी की एक बंदिष से किया । आपके साथ तबले पर जितेन्द्र षर्मा ने उम्दा संगत की । 
कार्यक्रम का संचालन श्रीमती पुप्पलता व्यास ने किया ।  कार्यक्रम को सफल बनाने में  गुरूजी के षिप्यांे  नवीन षर्मा, गजेन्द्र जैन, राजू मच्छी, लीलाधर दिवाकर, षेखर षर्मा, बाबूलाल राठी आदि का अतुलनीय योगदान रहा ।
 

Nagur Tabla Player   Maganraj   Jitendra Sharma   Pushplata Vyas