Thursday, 14 December 2017

राग में जाग 18 मार्च को

विष्वविख्यात मोहनवीणा वादक पं. विष्वमोहन भट्ट का कार्यक्रम

Vishvamohan Bhatt to Visit Bikaner on 18 Marchबीकानेर। आचार्य तुलसी शांति प्रतिष्ठान की ओर से विष्वविख्यात मोहनवीणा वादक पं. विष्वमोहन भट्ट का कार्यक्रम ‘राग में जाग’ 18 मार्च,  को संध्या 7.00 बजे आचार्य तुलसी के समाधि-स्थल ‘नैतिकता का शक्तिपीठ’ पर आयोजित किया जायेगा। प्रतिष्ठान के महामंत्री जैन लूणकरण छाजेड़ ने बताया कि कार्यक्रम का शुभारम्भ साध्वीप्रमुखा कनकप्रभा जी के मंगलपाठ एवं उद्बोधन से होगा। अभी हाल ही में राजस्थान सरकार द्वारा पं. भट्ट को ‘राजस्थान रतन’ की उपाधि से सम्मानित किया गया है।

पं. विश्वमोहन भट्ट भारतीय संगीत की प्रमुख हस्तियों में से एक हैं। इनका जन्म 1952 में राजस्थान के जयपुर में हुआ था। ये पं. रविशंकर के शिष्यों में से एक हैं। यो मोहन वीणा के जनक हैं। इन्हें 2002 में पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया।

पं. विश्वमोहन भट्ट को मुख्यतः उनके एलबम ए मीटिंग बाय द रिवर के लिये जाना जाता है। जिसके लिये उनहें ग्रेमी अवार्ड से नवाजा गया। इसके अलावा उन्हें पश्चिमी कलाकारों के साथ मिलकर फ्यूजन और सांस्कृतिक सहयोग से संगीत की नई विधाओं के सृजन का श्रेय भी जाता है।

महामंत्री छाजेड़ ने बताया कि प्रतिष्ठान के उपाध्यक्ष अजय चोपड़ा दिनांक 18 मार्च, 2014 की सुबह पं. विष्वमोहन भट्ट के साथ बीकानेर पहुंचेंगे। 

 

Vishmohan Bhatt   Acharya Tulsi Shanti   Loonkaran Chhajer   Ajay Chopra