Monday, 23 October 2017

स्वतंत्रता सेनानी की बीमार पत्नी को नही मिला बैड

मुख्यमंत्री से करेगें शिकायत | पीबीएम के जे व के वार्ड में भर्ती के लिए हुई मशक्कत

बीकानेर, देश की आजादी के आन्दोलन में अपना सर्वष अर्पण करने वाले स्वतंत्रता सेनानी की बीमार पत्नी को पीबीएम अस्पताल में भर्ती करने के बाद भी बैड नसीब नही हुआ। संवेदनहीन बने पीबीएम प्रशासन के चिकित्सकों ने मूत्रालय के पास काफी मशक्कत के बाद बैड उपलब्ध करवाया। इसकों देख स्वतंत्रता सेनानी परिवार के सदस्यों व ड्यूटी पर उपस्थित चिकित्सकों के मध्य गर्मागम बहस भी हुई। स्वतंत्रता सेनानी  चम्पालाल उपाध्याय की धर्मपत्नी श्रीमति रम्भा देवी उपाध्याय को सोमवार को तबीयत बिगडने पर परिवारजन पीबीएम के आपातकालीन कक्ष में ले गए। यहां में रम्भा देवी को जे वार्ड मे रैफर कर दिया। स्वंतत्रता सेनानी चम्पालाल उपाध्यक्ष के पुत्र मथुरा दास उपाध्याय ने बताया कि वार्ड में उपस्थित चिकित्सकों ने बैड नही होने का कहकर के वार्ड में रम्भा देवी को भेज दिया।  के वार्ड चिकित्सकों ने भी बैड नही होने का कहरकर रम्भा देवी का पुन जे वार्ड में भेज दिया। रम्भा देवी के परिवार जनों ने पीबीएम अधीक्षक सेटिलिफोनिक सम्फ किया। अधीक्षक ने भर्ती करने का आश्वासन देकर फोन काट दिया। इस दौरान दोनों पक्षों की ओर से बहस भी हुई। चिकित्सकों ने वरिष्ठ चिकित्सकों के कहने पर ही रम्भा देवी को आईसीयू में रैफर कर दिया। 
मुख्यमंत्री से करेगें शिकायत 
स्वतंत्रता सेनानी चम्पालाल उपाध्याय की धर्मपत्नी श्रीमति रम्भा देवी उपाध्याय को बीमारी की स्थिति में वार्ड में भर्ती नही कर ईलाज में देरी करने की शिकायत मुख्यमंत्री से की जाएगी। स्वतंत्रता सेनानी उपाध्याय के पुत्र मथुरा दास उपाध्याय ने बताया कि पीबीएम में चिकित्सकों द्वारा मरीजों व उनके परिवारजनों के साथ की जा रही अभद्रतता श्रीमति रम्भा देवी को रैफर के बाद भी वार्ड में भर्ती नही करने की शिकायत स्वतंत्रता सेनानी परिवार के सदस्य मंगलवार को मुख्यमंत्री के बीकानेर आगमन पर करेगे। 

PBM Hospital   Freedom Fighter