Thursday, 14 December 2017

जिले के पक्षीजगत पर छात्राओं ने किया सर्वेक्षण

पक्षियों के प्रजनन और आहार विषयक जानकारियां संकलित की

डूंगरपुर ३ अक्टूबर/ जिले में मनाए जा रहे वन्य जीव सप्ताह के तहत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से देवेन्द्र बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की छात्राओं ने जिले में पाए जाने वाले पक्षियों पर सर्वेक्षण कार्य कर प्रायोजना तैयार की।
प्रधानाचार्य श्रीमती देवी जोशी ने बताया कि राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के अन्तर्गत वर्ष २००६-०७ के मुख्य विषय ’जैव विविधता-प्रकृति बचाएं, भविष्य संवारे‘ के तहत चयनित प्रायोजना पर विद्यालय की शिक्षिका श्रीमती वंदना सोलोमन, रेणुका शर्मा व ओजस्वी परमार के मार्गदर्शन में  अनीसा, हिना मेवाफरोश, सालेहा, प्रियंका, लक्ष्मी आदि छात्राओं  ने  शहर के गेपसागर झील के साथ ही सारणेश्वर शिवालय के समीप स्थित जलाशय में पक्षियों का सर्वेक्षण कार्य संपादित किया। सर्वे दल द्वारा यहां पर एशियन ओपन बिल स्टॉर्क, ईग्रेट, कार्मोरेन्ट, वाईट आईबीस के घोसलों, बच्चों व अण्डों को देखकर इनके बारे में संदर्भ व्यक्ति पर्यावरणीय विषयों के जानकार वीरेन्द्रसिंह बेडसा से जानकारी प्राप्त की। छात्राओं ने भ्रमण दौरान केटल ईग्रेट, रेड वेटल्ड लेपविंग, पाईड किंगफिशर, व्हाईट ब्रेस्टेड किंग फिशर, फेजन्ट टेल जेकाना, ब्रोंज विग्ड जेकाना समेत कई पक्षियों को भी देखकर इनकी संख्या व प्रकृति के बारे में जानकारियां संकलित की।
इस अवसर पर विज्ञान क्लब की अध्यक्ष रेणुका शर्मा, कोषाध्यक्ष वन्दना सोलोमन और ने भी जैव विविधता से संबंधित तथ्यों के बारे में सर्वे दल को जानकारी दी।  बेडसा ने इस दौरान वागड अंचल में विद्यमान देव वन संस्कृति और यहां पर आश्रय प्राप्त वन्य जीवों के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी प्रदान की।