Monday, 23 October 2017

डॉ. बोथरा को श्रद्धाजंलि

बोथरा के निधन को अपूरणिय क्षति बताया

बीकानेर। डॉ. विजय बोथरा के असामयिक निधन पर जैन महासभा ने इसे समाज ही नहीं बीकानेर की अपूर्णीय क्षति बताया है। जैन महासभा अध्यक्ष इंद्रमल सुराणा ने कहा कि चिकित्सकीय कार्यों में सेवा भावना से जिस तरह डॉ. विजय बोथरा ने कार्य किया, वह अनुकरणीय है। महामंत्री जैन लूणकरण छाजेड़ ने कहा कि डॉ. विजय बोथरा ने चिकित्सा सेवा को अपने जीवन का अंग बना लिया था। डॉ. बोथरा ने आई डोनेशन के कार्य हेतु रतन नेत्र ज्योति संस्थान की स्थापना की। अपने जीवन में अनेकों जगह पर शिविरों के आयोजन करके बीमार व्यक्तियों का इलाज करने में अग्रणी रहे। एडवोकेट महेन्द्र जैन ने कहा कि डॉ. विजय बोथरा गरीबों के मसीहा थे। पूर्व अध्यक्ष विजय कोचर, महामंत्री जतन दूगड़ सहित जैन महासभा के सभी पदाधिकारियों एवं संचालक मंडल ने अपनी श्रद्धांजलि प्रदान करते हुए शोक व्यक्त किया। डॉ. जी सी जैन, डॉ. धनपत कोचर इत्यादि चिकित्सक मित्रों ने डॉ. बोथरा के परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए इसे अपूरणीय क्षति बताया।

Vijay Bothra   Naresh Goyal