Wednesday, 13 December 2017

प. दीनदयाल के सिद्धान्तों एवं आदर्शों को जीवन में उतारें-मुख्यमंत्री

पं.दीनदयाल उपाध्याय जयन्ती

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे मंगलवार को उदयपुर में पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए।जयपुर, २५ सितम्बर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने आम जन से आग्रह किया कि वे पं. दीनदयाल उपाध्याय के सिद्धान्त एवं आदर्शों को जीवन में उतारें।
 मुख्यमंत्री मंगलवार को उदयपुर के दूधतलाई स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय उद्यान में पं.दीनदयाल उपाध्याय जयन्ती पर आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहीं थीं। उन्होंने कहा कि पं. उपाध्याय ने सदैव समाज सेवा में अग्रणी भूमिका अदा की तथा चरित्र को सर्वोपरि माना। उनके बताए मार्ग पर चल कर व्यक्ति अपने जीवन को सार्थक बना सकता है।
 उन्होंने कहा कि आने वाली सदी भारत की होगी। इसके लिए सभी दीनदयालजी के पथ पर चलें।
 इस मौके पर गृहमंत्री श्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि पं. उपाध्याय के पास प्रखर बुद्धि एवं राष्ट्रभक्ति कूट-कूट कर भरी थी। उन्होंने जीवन मूल्यों को स्थापित करने के लिए आदर्श प्रस्तुत किया। उनके आदर्शों को जीवन में ढालना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
 प्रारंभ में नगर विकास प्रन्यास के अध्यक्ष श्री शिवकिशोर सनाढ्य ने भी पं. उपाध्याय के बताए मार्ग पर चलने का आव्हान किया। इस मौके पर सांसद श्रीमती किरण माहेश्वरी, उदयपुर ग्रामीण विधायक श्रीमती वंदना मीणा सहित अनेक जन प्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।
मूर्ति पर माल्यार्पण -
मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने इससे पूर्व उद्यान में लगी पं. दीनदयाल उपाध्याय की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। इस अवसर पर गृहमंत्री श्री कटारिया एवं सांसद श्रीमती किरण माहेश्वरी ने भी मूर्ति पर माल्यार्पण किया।
जना कृष्णमूर्ति को श्रद्धांजलि -
समारोह में श्री जना कृष्णमूर्ति के आकस्मिक निधन का समाचार प्राप्त होते ही मुख्यमंत्री सहित उपस्थित समस्त गणमान्य नागरिकों ने दो मिनिट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धाजंलि दी।