Monday, 18 November 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  1617 view   Add Comment

महाषिवरात्रि पर आध्यात्मिक प्रवचन

जापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय के क्षेत्रीय केन्द्र में होगा झांकियों का आयोजन

बीकानेर,  सार्दुल गंज स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय के क्षेत्रीय केन्द्र में महाषिवरात्रि पर आध्यात्मिक प्रवचन तथा सचेतन झांकियों का आयोजन होगा। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय की क्षेत्रीय केन्द्र प्रभारी बी.के.कमल ने बताया कि महा षिवरात्रि के दिन गुरुवार 27 फरवरीी को सुबह साढ़े सात बजे से आठ बजे तक विषेष कक्षाओं में ’’ षिव का आध्यात्मिक महत्व’’ प्रवचनों के माध्यम से बताया जाएगा।महाषिवरात्रि के दिन शाम को सात बजे से नौ बजे तक निराकार परमपिता परमात्मा षिव-षंकर की सचेतन झांकी निकाली जाएगी। आयोजन प्रभारी बी.के. मीना ने बताया कि महाषिवरात्रि का ध्वज आश्रम में स्थापित कर दिया है। सुबह आध्यात्मिक प्रवचनों तथा शाम को सचेतन झांकियों के दर्षन का लाभ आम श्रद्धालु ले सकेगा। 
 षिव ध्वज स्थापना के बाद हुए प्रवचन में बी.के.मीना ने कहा कि षिव परमात्मा निराकार, ज्योति स्वरूपहै।  षिव पिता परमात्मा ब्रह्मा, विष्णु एवं शंकर तीनों देवताओं के रचयिता हैं। षिव की यादगार लिंग (प्रतिमा) यादगार के रूप में दिखाते है।  उन्होंने कहा कि परमात्मा का स्व उद्घाटित नाम षिव है जिसका अर्थ है कल्याणकारी । वे सृष्टि की सभी आत्माओं  के परमपिता, परम षिक्षक एवं परम सतगुरु है। ज्योति स्वरूप होने केकारण उन्हें निराकार कहा जाता है। 
 

Share this news

Post your comment