Saturday, 19 October 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  1785 view   Add Comment

101 कुंडीय श्री विष्णु महायज्ञ 11 से

जगदगुरु पंचम पीठाधीश्वर गोस्वामी वल्लभाचार्य महाराज (कामवन) के सान्निध्य

बीकानेर, जगदगुरु पंचम पीठाधीश्वर गोस्वामी वल्लभाचार्य महाराज (कामवन) के सान्निध्य में बीकानेर वैष्णव सम्प्रदाय के देश के प्रमुख व प्राचीन राज रतन बिहारी मंदिर का पाटोत्सव वर्ष 161 पर विविध धार्मिक आयोजन 9 से 15 मार्च तक होंगे।

गोस्वामी वल्लभाचार्य महाराज  ने राज रतन बिहारी मंदिर में बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि मंगल कार्यक्रमों में 9 से 11 मार्च तक 108 कुंडीय श्री विष्णु महायज्ञ पंडित राजेन्द्र किराडू व मयूर उपाध्याय के आचार्य में होगा। यज्ञ का उद्देेश्य मानव मात्र में वैमनस्यता दूर कर सद्भावना, भाईचारा तथा मानवीयता के गुणों को प्रतिष्ठित करना है। उनकी सुख, समृद्धि व एश्वर्य में श्रीवृद्धि करना है। यज्ञ के लिए मंदिर के पीछे के मैदान में 108 वेदिकाओं का निर्माणकार्य अंतिम दौर में है। यज्ञ में 108 जोड़ों के साथ अनेक यज्ञोपवीतधारी बालक आहूतियां देंगे। यज्ञ में वैष्णव सम्प्रदाय के साथ सनातन धर्मावलम्बी भी आहूतियां देंगे। सभी जोड़ों ने पंजीयन करवा लिया है।

जगद्गुरु वल्लभाचार्य ने बताया कि मंगल कार्यक्रमों के तहत ही पुष्टिमार्ग के विविध विषयों पर गोकुल फरीदाबाद के विद्वान गणेश शंकर आचार्य पुष्टिमार्ग के विविध विषयों पर नित्य प्रवचन करेंगे। उन्होंने बताया कि उनका जन्म दिन जगदगुरु प्रागट्यदिन महोत्सव 13 मार्च को मनाया जाएगा। सुबह मार्कडेय पूजा, केसर स्नान होगा। श्री राज रतन बिहारीजी मंदिर के 161 वे पाटोत्सव पर 14 मार्च को सुबह साढ़े ग्यारह बजे तिलक, दोपहर बारह बजे नंदोत्सव व शाम सात बजे प्रभु के विवाह खेल दर्शन का आयोजन होगा। मंदिर में शुक्रवार 15 मार्च को छप्पन भोग का प्रसाद चढ़ाया जाएगा। छप्पन भोग के दर्शन दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक आम श्रद्घालुओं के लिए खुले रहेंगे। छप्पन भोग के लिए तैयारियां शुरू हो गई है। दाऊजी व रात रतन बिहारी मंदिर को रंग बिरंगी रोशनी से सजाया जा रहा है। उत्सव में हिस्सा लेने के लिए देश के विभिन्न इलाकों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु बीकानेर पहुंचने शुरू हो गए हैं।

Share this news

Post your comment