Saturday, 25 May 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  1893 view   Add Comment

माही जल का आचमन करेंगे झारखण्ड महादेव

कावड यात्रियों के टोले गूंजाते रहे बम भोले, बांसवाडा में कावड यात्रा सम्पन्न

बांसवाडा, २० अगस्त/ वागड वृन्दावन धाम और जनजाति अंचल के हरिद्वार कहे जाने वाले माही, सोम और जाखम त्रिवेणी संगम स्थल हरिद्वार से रविवार रात निकली कावड यात्रा सोमवार को बांसवाडा शहर स्थित मदारेश्वर शिवालय पहुंच कर देवाधिदेव के पंचाक्षर मंत्र के साथ किए गए जलाभिषेक के साथ सम्पन्न हुई।
कावड यात्रा संघ बांसवाडा के तत्वावधान में आयोजित इस दो दिवसीय कावड यात्रा में इस बार बीस हजार कावड यात्रियों ने हिस्सा लिया। राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री भवानी जोशी ने भी लगातार १८वीं साल ४५ किमी. की दूरी नंगे पांव तय की और हजारों कावड यात्रियों को सानिध्य प्रदान करते हुए उनका उत्साह बढाया।
श्री जोशी माही, सोम और जाखम त्रिवेणी संगम से लाए पवित्र जल से जयपुर में स्थित प्रसिद्ध प्राचीनतम झारखण्ड महादेव का अभिषेक करेंगे। वे सोमवार को सुबह नंगे पांव कावड लिए बेणेश्वर से बांसवाडा पहुंचे। इससे पूर्व रविवार शाम सात बजे उन्हने हजारों कावड यात्रियों के साथ संगम में पवित्र डुबकी लगाई और बेणेश्वर शिवालय में पूजा अर्चना कर रात आठ बजे बांसवाडा के लिए प्रस्थान किया।
भारी पुलिस इंतजाम के बीच इन कावड यात्रियों का बेणेश्वर से मदारेश्वर के मध्य आने वाले दर्जनों गांवों में स्वागत किया गया। स्वयंसेवी संस्थानों ने कावड यात्रियों के स्वागत में पलक पावडे बिछा दिए। अल्पाहार के साथ ही दूध, फल आदि उपलब्ध कराए वहीं उनकी थकान दूर करने के लिए भी श्रद्धालुओं ने सेवा सुश्रुषा में कोई कमी नहीं रखी।
सुबह से ही कावड यात्रियों के टोले बांसवाडा पहुंचना शुरु हुए और वागड की वादियां भगवान आशुतोष के जयकारों से गुंजने लगी। बच्चों की टोलियों से लेकर अधेड उम्र तक के महिला पुरुष इस सांस्कृतिक अनुष्ठान में सम्मिलित हुए।
श्रावण मास अंतर्गत इस विराट आयोजन में हर जाति समुदाय के हर आयु वर्ग के श्रद्धालुओं के उत्साह और  आस्था के आगे हर कोई नत मस्तक था। मदारेश्वर शिवालय पर शिव पंचाक्षर मंत्र की अनुगूंज के बीच कावड यात्रियों ने जलाभिषेक किया।

Share this news

Post your comment