Saturday, 19 October 2019
khabarexpress:Local to Global NEWS
  2436 view   Add Comment

रामनवमी महोत्सव धूमधाम से मनाया

पंचामृत से किया अभिषेक, धार्मिक अनुष्ठानों के हुए आयोजन

बीकानेर, मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव रामनवमी रविवार को धार्मिक अनुष्ठानों के साथ भक्तिपूर्वक मनाया गया।  शहर में रिथत राम मंदिरों में इस अवसर पर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। रामनवमी के अवसर पर भगवान राम की विशेष पूजा-अर्चना श्रृगांर, महाआरती की गई। मंदिरों में रामायण सुदंकांड, हनुमान चालिसा पाठ के आयोजन हुए। राम भक्तों ने भगवान श्रीराम का पंचामृत से अभिषेक कर राम जन्म की खुशिया शंख, झालर, नगाड, छमछमा का वादन कर मनाई। रामनवमी के अवसर पर नत्थुसर गेट के बाहर स्थित इक्कीसिया गणेशजी परिसर स्थित राम मंदिर में भगवान राम का पंचामृत से अभिषेक कर पूजन व श्रृगांर किया गया। पुजारी गोपाल किराडू के अनुसार शनिवार शाम से शुरू हुए अखण्ड पाठ की पूर्णाहुति रविवार को हुई। अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा सर्वोदय बस्ती में चल रहे गायत्री महामंत्र जाय की पूर्णाहुति रविवार को हुई। इस अवसर पर यज्ञ का भी आयोजन किया गया। जस्सोलाई तलाई स्थित जनेश्वर महादेव मंदिर स्थित रघुनाथ मंदिर में रामनवमी महोत्सव मनाया गया। पुजारी कमल सेवग के अनुसार इस अवसर पर भगवान राम का पंचामृत से अभिषेक किया गया। सत्प्ररेणा परिषद की और से धनीनाथ गिरी पंच मंदिर में भगवान राम का जन्मोत्सव मनाया गया। नवान्ह पारायण पाठ की पूर्णाहुति हुई। हवन व सुदंरकाण्ड पाठ का आयोजन किया गया। पुष्करणा स्टेडियम के पीछे स्थित रघुनाथ मंदिर में रामनवमी महापर्व धूमधाम से मनाया गया। तेलीवाडा चौक स्थित रघुनाथ मंदिर में रामनवमी महोत्सव हर्षोल्लासपूर्वक मनाया गया। बडी संख्या में उपस्थित श्रद्धालुओं ने भगवान राम के पंचामृत अभिषेक, पूजन, श्रृगांर, भोग, महाआरती कार्यक्रमों में भाग लिया। भट्ठडों का चौक स्थित रघुनाथ मंदिर, जस्सुरगेट एमएम गाऊण्ड के पास स्थित राम मंदिर सहित शहर में स्थित राम मंदिरों में रामनवमी महोत्सव अनेक आयोजनों के साथ मनाया गया। अलसुबह से ही राम मंदिरों में श्रद्धालुओं की लम्बी कतारे लग गई। मंदिरों का रंग-बिरंगी रोशिनियों से भव्य रूप से सजाया गयां पंचामृत व प्रशाद का वितरण श्रद्धालुओं में किया गया। रात्रि को भक्ति संगीत कार्यक्रम के आयोजन हुए। 
राम जन्म की खुशिया मनाई
भगवान राम के जन्मोत्सव की खुशिया घर-घर व मंदिरों में मनाई गई। मंदिरों में जैसे ही दोपहर के १२ बजे शंख हवन, झालर की झंकार, घंटियों की टंकार, नगाडों और छमछमों की लयबद्ध आवजों तथा भगवान राम के जयकारों के साथ खुशिया मनाई गई। घरों में भी भगवान राम के जन्मोत्सव पर थालिया बजाकर राम जन्म की खुशिया मनाई। भगवान राम के जन्म समय के अवसर पर श्रद्धालुओं ने एक -दूसरे का बधाईया दी व मिठाईया वितरति की। 

Share this news

Post your comment