Tuesday, 24 October 2017

48वीं पुण्य तिथि पर श्रीमद्भागवत कथा प्रारम्भ

श्री बंषीलाल जी राठी की बगेची में श्री मद्भागवत कथा प्रारम्भ महोत्सव चलेगा 2 अप्रेल तक

भीनासर। स्थानीय श्री बंषीलाल जी राठी की बगेची, श्री मुरलीमनोहर मैदान मे  पूर्णान्द जी महाराज की 48 वीं पुण्य तिथि पर श्री व्यास पीठासीन पण्डित पुरूषोतम जी व्यास द्वारा आज प्रथम दिन श्री मद्भागवत कथा की महत्ता बताते  हुए कहा कि इस कथा के श्रवण मात्र से ही पापों का नाष हो जाता है और भागवत् लीला के गुणगान व उनकी लीलाओं को सुनने से मानव मात्र का कल्याण होता है। मधुर संगीतमय कथा का रस्वादन करते हुए श्रोता गण भाव विभोर हो गए। ट्रस्ट के अध्सक्ष श्री गौरीषंकर सरड़ा ने श्री रामनारायण जी राठी ने पीठासीन व्यास जी का माल्यार्पण कर अभिनन्दन किया और कहा कि भक्तजनों की सुविधा के लिए छः बसों की निःषुल्क व्यवस्था की गई है। कथा प्रारम्भ से पूर्व पंण्डित पुरूषोतम व्यास के सानिध्य में श्री मुरलीमनोहर मंदिर से कलष यात्रा नगर भ्रमण के लिए गाजे बाजे के साथ निकाली गई। इसमें 151 महिलाओं ने सिर कलष धारण किये हुए एक ही तरह की पोषाक में सोभायात्रा के आर्कषण का केन्द्र थी। पूर्णेष्वर स्कूल के विद्यार्थियों ने भी इसमें भाग लिया और रात्रि में आठ बजे से संकीर्तन व भजनो का कार्यक्रम हुआ। जिसको सुनकर भक्त जनों ने उठाया।

मंगलवार रात्रि को संगीतमय सुन्दरकाण्ड का पाठ हुआ। इसमें बड़ी संख्या में भक्तों ने भाग लिया। महोत्सव 2 अप्रेल तक चलेगा।


 

Purnanad Maharaj   Banshilal Rathi   Murlimanohar Maidan   Bhagwath Recitation