Monday, 23 October 2017

दाऊजी मंदिर मे तीन दिवसीय पाटोत्सव आज से

सांझी छाक, तिलक आरती, पलना, नन्द महोत्सव, भक्ति संध्या, फाग एवं फूल फाग मनोरथ के होंगें आयोजन 

दाऊजी मंदिर मे तीन दिवसीय पाटोत्सव आज से

बीकानेर, (खबरएक्सप्रेस.काॅम) बीकानेर मे वैष्णव सम्प्रदाय के प्रमुख श्री दाऊजी मंदिर का 111वां पाटोत्सव आज से मनाया जायेगा। पाटोत्सव महामहोत्सव मे तीन बड़े उत्सव होंगें जिनमे आज सांझी छाछ, कल फाग नंद महोत्सव तथा परसों फागोत्सव के कार्यक्रम होंगें।
मंदिर ट्रस्ट के पीठासीन अधिकारि व मुख्य प्रबंधक भूषण गोस्वामी महाराज ने जानकारी देते हुए बताया ने पाटोत्सव के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि बीकानेर मे इस मंदिर की 111 वर्ष पूर्व वैष्णव संम्प्रदाय के चतुर्थ पंचम पीठाधीश्वर कामवन के गोस्वामी वल्लभनाथजी महाराज द्वारा दाऊजी भगवान की प्रतिमा स्थापित करने के साथ  वैष्णव सेवा की शुरूआत की थी और इस मंदिर स्थापना मे मुख्य मनोरथ सदासुख कोठारी द्वारा की गई।
मंदिर अधिकारी गोस्वामी ने बताया कोलकात्ता के कोठारी परिवार द्वारा आयोजित इस पाटोत्सव मे आज सायं पांच बजे सांझी छाक का आयोजन होगा जिसमे मंदिर प्रांगण को रंग-गुलाल और फुलों से रंगोली सजायेंगें तथा बीच मे ठाकुरजी विराजित होंगें और चारों और भिन्न भिन्न पकवान अर्पित करते हुए शहर भर के वैष्णवजन ठाकुरजी के सखि और सखाओं के रूप मे गोठ मनाऐंगें।
पाटोत्सव के दुसरे दिन सुबह साढ़े नौ बजे तिलक आरती, पलना एवं नंदोत्सव मनाया जायेगा जिसमे ठाकुरजी का प्राकट्य भाव के साथ पलना मे झुला झुलाया जायेगा तथा दौरान वैष्णव भक्ति मार्ग के पद गायन होंगें।  तथा सायंकालीन अवसर पर विशेष भजन संध्या का आयोजन होगा।
प्रंबन्धक गोस्वामी ने कहा पाटोत्सव तीसरे दिन सुबह दस बजे फाग एव फूल मनोरथ का आयोजन किया जायेगा जिसमे विराट स्तर पर ठाकुरजी को गुलाल, इत्र, पुष्पों व रंग-पिचकारी से बड़ीफाग खेलाई जायेगी। 
पाटोत्सव महाउत्सव के लिए मंदिर को नये रंग-रोगन के विशेष साज-सज्जा और रंगीन लाइटांे से सुसज्जित किया गया है। कार्यक्रम मे प्रतिदिन सेवा-प्रसाद वितरित किया जायेगा। मंदिर सेवा कार्य मे 8 सेवक नियमित रूप से सेवा अर्पण करते है।

 

Vaishnav Mandir   Dauji Mandir   Bikaner Temples