Monday, 30 November 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  4788 view   Add Comment

मै तो कर रही रास्ता साफ आज मेरे राम आयेंगे

लक्ष्मीनाथ मंदिर में चल रही रामलीला

बीकानेर(नसं)। श्री रामकला मंदिर के तत्वावधान में लक्ष्मीनाथ मंदिर में चल रही रामलीला में सोमवार को बाली वध शबरी द्वारा रामचन्द्र जी को बेर खिलाना व सुगीव का राज तिलक  व हनुमान का प्रकट होने का मंचन किया गया।
 
बाली को वरदान प्राप्त होता है कि अगर वो किसी को अपनी अपनी आंखों में आखों डाल लेते तो उसकी शक्ति बाली को प्राप्त हो जाती इस लिए रामचन्द्र जी ने उसे वृक्ष के पीछे छिपकर तीर मारा। जब बाली और सुग्रीव का झगड़ा होता है तो सुग्रही कहते है बाली  बाहर निकल रोज रोज का झगड़ा ही खत्म कर देते हूं। हनुमान कहते है राम को कौन ग्राम नाम देवता आप कहा से पधारे है जाहिर में तो तपस्वयी है फिर शस्त्र क्यो धरे है।  तो राम कहते है कि क्यो पूछते हो महाराज हम प्रारब्ध के मारे है कहने के तो हम दोनो दशरथ के राज दुलारे है। । इस दौरान  जब राम लक्ष्मण वन में घुमते हुए शबरी तक पहुंचते है तो शबरी देखते ही कहती है कि मै तो कर रही रास्ता साफ आज मेरे राम आयेंगे। जब राम को भूख लगती है तो  शबरी राम को बेर देती है तो कुछ बेर राम लक्ष्मण को खाने के लिए देते है तो लक्ष्मण मुंह बिगागडकर बैंर को फेंक देते है। तो रामचन्द्र जी कहते है कि लक्ष्मण तुमने तो खाये नहीं देखों तो कैसा पाताल से लेकर स्वर्ग तक जो है वह सब फीका है।
 
रामलीला में  बाली तरुण भादाणी, हनुमान युवराज, सीता तरुण सेवग, लंकनी नवरतन भादाणी, शबरी लीलाधर सोनी, सुग्रीव मखन जोशी ने पात्र निभाया।
 
कार्यक्रम के मु य अतिथि भा.ज यु. मो के प्रभारी महावीर रांका, खाजूवाला विधायक विश्वनाथ मेघवाल व नगर निगम के कन्ष्टि अभियंता गीता यादव थे। समिति के संरक्षक नारायण छंगाणी ने बताया कि रामलीला के सभी पात्र अपनी सेवाएं नि:शुल्क दे रहे है। 

Tag

Share this news

Post your comment